कर्ज से परेशान किसान पेड़ पर फंदा बांधकर झूला, बेटे ने बचाया

- धूलकोट इटारिया गांव की घटना
- प्रशासन में हड़कंप

By: ranjeet pardeshi

Published: 09 Dec 2017, 01:13 PM IST

बुरहानपुर. कर्ज से परेशान एक किसान ने आत्महत्या का प्रयास किया है। घटना जिला मुख्यालय से 30 किमी दूर धूलकोट के इटारिया गांव की है। जहां पेड़ पर रस्सी बांधकर जब किसान लटका तो उसके चीखने की आवाज सुनकर दौड़े बेटे ने दराती से रस्सी काटकर जान बचाई। घटना के बाद किसान को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस मामले के बाद प्रशासन में भी हड़कंप मच गया।
जानकारी के अनुसार हेमसिंग सिसोदिया 50 वर्षीय धूलकोट इटारिया का रहने वाला है। शनिवार सुबह 7 बजे वह अपने ही घर के बाहर पिपल के पेड़ पर रस्सी बांधकर फंदे पर झूल गया। घर से निकले उसके बेटे संजय सिसोदिया ने दराती से रस्सी काटकर पिता को बचाया। जहां एंबुलेंस से उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। उसकी हालत अभी गंभीर बनी हुई है। घटना के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि आत्महत्या का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। अभी बयान लिए जा रहे हैं। मामले की जांच के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट होगी।
इसलिए किया आत्महत्या का प्रयास
बेटे संजय ने बताया कि नाबाड की ९ एकड़ जमीन पर खेती की हुई है। इसके लिए ९० हजार सोसायटी से और १० सूदखोरों से करीब ५ लाख रुपए का कर्जा ले रखा है। आधे से ज्यादा रुपए हेमसिंग के इलाज में चले गए। हेमसिंग को लीवर में परेशानी है। जब रुपए नहीं दिए तो सूदखोर परेशान करने लग गए, किसी ने बैल जोड़ी ले जाने की धमकी दी, तो किसी ने जमीन हड़पने की धमकी दी। शुक्रवार के दिन सोसायटी से नोटिस भी आ गया, इससे परेशान किसान ने आत्महत्या का प्रयास किया।
रातभर बेटी के घर रहा
कर्ज से परेशान किसान हेमसिंह शुक्रवार के दिन गांव में ही बेटी गीता बाई के घर चला गया। यहां बेटी को आपबीती सुनाने के बाद रात बेटी के घर ही टेंशन में सोया। शनिवार सुबह ७ बजे उठकर खुद के घर के निकल गया। जहां घर के बाहर पिपल के पेड़ पर रस्सी बांधकर आत्महत्या का प्रयास करने लगा। बेटे तत्परता से जान बच गई।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned