संसद में गूंजा बुरहानपुर के केला किसानों का मुद्दा

16 हजार किसानों को नहीं मिली 70 करोड़ रुपए बीमा की राशि
- सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने उठाया प्रश्न

By: Amiruddin Ahmad

Published: 19 Mar 2020, 10:57 AM IST

बुरहानपुर. केला किसानों का मुद्दा बुधवार को संसद में गूंजा। शून्यकाल के दौरान सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने केला किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की क्लेम राशि नहीं मिलने पर प्रश्न उठाया। प्रदेश सरकार पर किसानों की प्रीमियम राशि जमा नहीं करने की बात कही।
सांसद नंदकुमारङ्क्षसह चौहान ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों के हित में देशभर में फसल बीमा योजना चलाइ जा रही हैं। मेरे संसदीय क्षेत्र के बुरहानपुर जिले में पीएम फसल बीमा के तहत केले की फसल का भी बीमा किसानों द्वारा कराया जाता हैं। एक हेक्टेयर में डेढ़ लाख रुपए का कवरेज इस बीमा में होता है। 2018-19 में 16 हजार 800 किसानों ने फसल बीमा कराया। मौसम आधारित फसल बीमा में जो नुकसान हुआ है उसमें ७० करोड़ रुपए का नुकसान सर्वे में निकल आया है। किसानों ने प्रीमियम में अपना अंश दे दिया और भारत सरकार ने भी प्रीमियम में अंश दिया। लेकिन मध्यप्रदेश सरकार ने अपना प्रीमियम का अंश न मिलाने के कारण ७० करोड़ रुपए किसानों को अब तक नहीं मिला हैं। प्रदेश सरकार भी फस बीमा का अंश मिलाकर किसानों को राशि देने के लिए प्रयास किया जाए।
216 हजार किसानों ने जमा कर दी 22 करोड़ की राशि
जिले में मौसम आधारित फसल बीमा योजना में 16 हजार 800 केला किसानों से विभिन्न बैंकों के माध्यम से 22 करोड़ १७ हजार ६० हजार से अधिक राशि जमा कराइ है। लेकिन नुकसान का मुआवजा अब तक नहीं मिला। फसल बीमा योजना के तहत प्रत्येक किसान से 13 हजार 200 रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से जमा किए गए। जबकि इतनी ही राशि सरकार की ओर से भी बीमा कंपनी को दी थी। 2018-19 में 16 हजार 800 किसानों ने पंजीयन कराकर राशि जमा की थी।
कई हेक्टेयर केला फसल प्रभावित
जिले में पिछले साल कई हेक्टेयर केला फसल प्रभावित हुई है। 8 डिग्री सेल्सियस से नीचे का तापमान जिले में रहा। इससे केला फसल जल गई है। आंधी.तूफान, तेज बारिश के साथ ही लगातार तपती गर्मी के बाद फसल को नुकसान हुआ। पूर्व में फसल बीमा योजना की राशि नवंबर, दिसंबर माह में किसानों के खातों में जमा हो जाती थी।
- मौसम आधारित फसल बीमा योजना का लाभ अब तक किसानों को नहीं मिला है, बीमा प्रीमियम की राशि को किसानों के खातों से कट गई है। क्लेम की राशि नहीं मिलने से किसान परेशान है।
शिवकुमारसिंह कुशवाह, उपाध्यक्ष प्रगतिशील किसान संघ
- केला फसल बीमा की शासन स्तर पर इसकी कार्यवाही चल रही है।
आरएनएस तोमर, उपसंचालक उद्यानिकी विभाग

Amiruddin Ahmad
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned