यह है भयानक वीडियो, पूरी ट्रेन यात्री के ऊपर से निकली, फिर भी जिंदा बचा

- पटरी पार करते समय अचानक आई ट्रेन
- जान बचाने के लिए बीच में लेट गया

By: ranjeet pardeshi

Published: 18 Aug 2017, 12:58 PM IST

बुरहानपुर. जाको राखे सांईया, मार सके ना कोई, यह कहावत गुरुवार को बुरहानपुर रेलवे स्टेशन पर सच होती नजर आई। पटरी पार करते समय अचानक ट्रेन आ गई तो यात्री पटरी पर सो गया। जब ट्रेन इसके ऊपर से निकली तो प्लेटफार्म पर खड़े यात्री घबरा गए। ट्रेन गुजरने के बाद यात्री जिंदा उठा तो लोग हैरत में पड़ गए। उसके शरीर पर एक खरोच तक नहीं आई। जब वह उठकर प्लेटफार्म पर चढ़ा तो घबराया हुआ था जिसे देखने के लिए भीड़ लग गई। पानी पीने पर यात्री ने राहत की सांस ली।
रामभाऊ सिरसाठ निवासी पाचौरा महाराष्ट्र गुरुवार को इटारसी से बुरहानपुर आया था। वह ट्रेन बदलकर अपने गांव जा रहा था। दोपहर करीब 12.30 बजे प्लेट फार्म नंबर 1 से 2 की ओर पटरी पार कर जा रहा था, तभी गोदावरी एक्सप्रेस आ गई। ट्रेन के आते ही लोगों चिल्लाए और आवाज सुनकर रामभाऊ बीच टे्रक पर लेट गया। दोनों ओर खड़े लोगों ने अपनी आंखे बंद कर ली और कयास लगाने लगे की व्यक्ति के चिथड़े उड़ गए होंगे। लेकिन जब ट्रेन गुजर गई, तो सभी हैरान हो गए। व्यक्ति को एक खरोच तक नहीं आई थी।
15 मिनट रहा बेसूध, फिर बोला मुझे घर जाना है
ट्रेन के गुजर जाने के बाद स्टेशन अधीक्षक पुष्पेंद्र कापड़े और निवरत्ती मराठे ने रामभाऊ को उठाकर प्लेटफार्म पर लाए और उसे पानी पिलाया। १५ मिनट बाद होश में आते ही बोला मुझे घर जाना है। कापड़े ने बताया कि घटना के बाद उसे होश नहीं था और वह काफी डर गया था।
98 गाडिय़ां निकलती है स्टेशन से-
बुरहानपुर रेलवे स्टेशन से दिनभर में 98 गाडिय़ां गुजरती है। इनमें 44 गाडिय़ों का स्टॉपेज है। इनमें 15 हजार यात्री सफर करते हैं। जबकि 54 गाडिय़ां बिना ठहरे निकलती है। इसके बाद भी सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम नहीं किए गए।
यहां भी सुरक्षा में कोताही-
रेलवे स्टेशन पर लोग पटरी पार कर प्लेटफार्म पास करते हैं। जबकि यहां पर ब्रिज बना हुआ है। कई बार ट्रेन नजदीक होने के बाद भी लोग जान जोखिम में डालकर यहां से निकलते हैं। लापरवाही तो यह है कि आरपीएफ के जवान यहां खड़े रहने के बाद भी इन्हें नहीं रोकते।
आसामाजिक तत्वों का अड्डा-
रेलवे स्टेशन परिसर आसामाजिक तत्वों का अड्डा भी बना हुआ है, इससे यात्रियों की मोबाइल चोरी, ट्रेनों में जहर खुरानी की घटनाएं भी घट चुकी है। वहीं स्टेशन के चारों ओर बाउंड्रीवाल न होने से बिना टिकट सफर करने वाले लोगों को बाहर निकलने के कई रास्ते खुले हैं।
आंकड़ा एक नजर में -
44 अप-डाउन की गाडिय़ों का स्टॉपेज
54 गाडिय़ां बिना ठहरे गुजरती है स्टेशन से
15  हजार यात्रियों का आवागमन स्टेशन में

https://youtu.be/KQDM6eulRpc

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned