Alert: SBI ने ग्राहकों को दी चेतावनी! आपकी ये गलती कर सकती है एंकाउट खाली

भारतीय स्टेट बैंकने ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए अपने करोड़ों उपभोक्ताओं को चेतावनी जारी की है।

By: Pratibha Tripathi

Published: 12 Nov 2020, 04:30 PM IST

नई दिल्ली। इन दिनों मोबाइल पर आ रहे फेक कॉल और मैसेजेस से कई लोगों के एकाउंट खाली हो रहे है। जिससे बचने के लिये State Bank of India की तरफ से लगातार चेतावनी दी जा रही है कि हमारे द्वारा ऐसी कोई कॉल मेसेज नही किए जा रहे है जो आपसे एंकाउट की डिटेल्स मांगें जाने की पेशकश करें । सोशल मीडिया (Social Media) पर फेक न्यूज (Fake news) से बचने के लिए SBI ने अपने खाताधारकों, ग्राहकों को सतर्क (Alert) करते हुए कहा है कि सोशल मीडिया पर लगातार ऐसे फेक मेसेज वायरल किए जा रहे है जिससे लोग उनके झांसे में असानी से आ रहे है। ऐसे में आप इनके द्वारा भेजे गए फर्जी और भ्रामक मैसेजेस से बचकर रहें। SBI ने नाम पर ऐसे मैसेज भेजे जा रहे है जिससे ग्राहक इससे जुड़कर आपना सारा बेलेस एक ही झटके में खो देते है। और इसका जिम्मेदार SBI को बताया जाता है जबकि बैंक इस तरह के कोई मैसेज नहीं भेज रहा है।

सोशल मीडिया पर रहें सतर्क
SBI ने एक ट्वीट (Tweet) जारी करते हुए ग्राहकों से अनुरोध किया है कि वे सोशल मीडिया पर आ रहे फर्जी संदेश के चक्कर में न पड़ें। ना ही अपनी कोई एकाउंट की डिटेल्स उनके साथ साक्षा करें नही तो आपका बैंक खाता खाली भी हो सकता है। SBI ने Twitter पर जानकारी देते हुए बताया है कि फेक न्यूज की चाल से ग्राहकों को बचाए रखने के लिए उनकी ओर से पूरी सीरीज चला रखी है। जिसमें ग्राहक जब भी सोशल मीडिया पर SBI को विजिट करें तो सबसे पहले Blue Tick को देखकर वेरिफाई करें, कि वो SBI की असली अकाउंट पर हैं। इसके अलावा SBI का पेज देखें। लेकिन जब तक आप इसे पूरी तरह से समझ ना ले तबतक निजी जानकारियां ऑनलाइन कभी शेयर नहीं करें। ना ही आप अपना एटीएम पिन, कार्ड नंबर, अकाउंट नंबर और ओटीपी किसी के साथ शेयर ना करें। क्योकि कोई भी बैंक आपकी निजी चीजों की मांग नही करता है।

SBI ग्राहक इस तरह चेक कर सकते हैं बैलेंस
बता दें एसबीआई का बैलेंस जानने के लिए आपको अपने रजिस्टर मोबाइल नंबर से टोल-फ्री नंबर '9223766666' पर मिस्ड कॉल करें। वहीं एसएमएस से बैलेंस जानने के लिए 09223766666 पर 'BAL' एसएमएस भेजें. इसके बाद आपको बैलेंस की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएंगी. ध्यान रहें, इस सुविधा के लिए आपका मोबाइल नंबर बैंक में रजिस्टर होना चाहिए।

बैंकिंग फ्रॉड से बचने के लिए ये 5 गलतियां कभी न करें
1. कभी भी अपना OTP, PIN, CVV, UPI PIN शेयर न करें
अक्सर फ्राड कॉल में बड़े बड़े वादे करके लोगों से उनकी एकाउंट की सारी डिटेल्स मांग लेते है। इसके साथ ही उन्हें धोखा देकर पासवर्ड तक बदलने को कहते है और आपसे OTP, CVV जैसी सेंसिटिव जानकारियां मांगी जाती हैं, याद रखे देश का कोई भी बैंक किसी से OTP या CVV नहीं मांगता है और न ही आपसे फोन करके पासवर्ड बदलने के लिए कहता है।

2. फोन में कभी भी बैंकिंग जानकारी सेव न करें
लोग अक्सर अपनी हर जानकारियों को फोन पर सेव करते है बैंक के अकाउंट नंबर, से लेकर CVV या ATM कार्ड की जानकारी तक फोन में सेव करके रखते हैं या फिर उनकी फोटो खींचकर रखते हैं लेकिन क्या आप जानते है कि यह जानकारियों के लीक होने के चांस ज्यादा होते हैं। जिसकी वजह से आप फ्रॉड का शिकार भी हो सकते हैं।

3. ATM कार्ड या डेबिट कार्ड की जानकारी शेयर न करें

एक बात का ध्यान हमेशा रखें कि अपने डेबिट कार्ड के साथ इससे जुड़ी जानकारियां किसी के साथ कभी भी शेयर न करें, जैसे डेबिट कार्ड नंबर, CVV, PIN किसी को भी न दें. क्योंकि अगर ये जानकारी लीक हो गई तो आपका खाता भी खाली हो सकता है।

4. पब्लिक इंटरनेट पर बैंकिंग नहीं करें
यदि आप ऑनलाइन बैंकिंग का उपयोग कर रहे है तो कभी किसी साइबर कैफे, ऑफिस के कंप्यूटर से एकाउं ना खोलें। हमेशा अपने पर्सनल इंटरनेट और कंप्यूटर का ही इस्तेमाल करें। ओपेन नेटवर्क या पब्लिक WiFi से फ्रॉड का खतरा ज्यादा होता है। आपकी सभी जानकारियां लीक हो सकती हैं।

5. बैंक कभी कोई जानकारी नहीं मांगता
SBI का कहना है कि बैंक कभी भी अपने ग्राहकों से उनकी संवेदनशील जानकारियां नहीं मांगता. बैंक कभी भी यूजर ID, PIN, पासवर्ड, CVV, OTP, VPA (UPI) की डिटेल्स नहीं मांगता है. इसलिए जो भी आपसे ये जानकारी मांगे तुरंत अलर्ट हो जाएं।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned