scriptHDFC Bank and HDFC Ltd will merge what will be effect on shareholders | HDFC Bank और HDFC Ltd आपस में होगें विलय, जानिए शेयर होल्डर्स पर क्या पड़ेगा इसका असर | Patrika News

HDFC Bank और HDFC Ltd आपस में होगें विलय, जानिए शेयर होल्डर्स पर क्या पड़ेगा इसका असर

HDFC Bank का विलय HDFC Ltd के साथ होगा। इसकी घोषणा आज बोर्ड मीटिंग के बाद की गई। इसकी घोषणा के बाद से शेयर मार्केट में भी तेजी देखी जा रही है। वहीं इन दोनों शेयर्स में भी तेजी देखने को मिल रही है।

Updated: April 04, 2022 11:14:14 am

हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (HDFC Ltd) ने आज बोर्ड मीटिंग के बाद बड़ी घोषणा की है। यह घोषणा बोर्ड मीटिंग में मंजूरी मिलने के बाद की गई है। इसको लेकर आज सुबह 11:30 बजे प्रेस कॉफ्रेंस भी होगी। कंपनी इस विलय के द्वारा पोर्टफोलियो और कस्‍टमर बेस बेहतरकरने की कोशिश कर रही है। इस मर्जर को लेकर HDFC ने कहा कि इस डील से HDFC Bank के हाउसिंग फाइनेंस को बेहतर बनाना है। इसके साथ ही मौजूदा कस्टमर बेस को बढ़ाना है।
hdfc-bank-and-hdfc-ltd-will-merge-what-will-be-effect-on-shareholders.jpg
HDFC Bank और HDFC Ltd का यह विलय फाइनेंशियल ईयर 2024 के दूसरे व तीसरे क्वाटर में पूरा किया जाएगा। इसके बाद HDFC Bank में HDFC Ltd का 41% स्टेक हो जाएगा।


HDFC Bank और HDFC Ltd के विलय से शेयर होल्डर्स पर क्या होगा असर
HDFC Bank का HDFC Ltd में विलय होने के बाद एचडीएफसी बैंक 100% सार्वजनिक शेयरधारकों के स्वामित्व में हो जाएगा। जिसके बाद एचडीएफसी लिमिटेड के पास एचडीएफसी बैंक का 41% हिस्सा हो जाएगा। एचडीएफसी लिमिटेड और एचडीएफसी बैंक का शेयर एक्सचेंज अनुपात कुछ इस तरह रहेगा। एचडीएफसी बैंक के 2 रुपए फेस वैल्यू वाले 25 फुली पेड-अप इक्विटी शेयरों के बदले में एचडीएफसी के 1 रुपए फेस वैल्यू के 42 फुली पेड अप इक्विटी होंगे। मर्जर के बाद मर्जर वाले रिकॉर्ड तिथि के अनुसार एचडीएफसी बैंक के शेयरधारकों को एचडीएफसी लिमिटेड के शेयर जारी किए जाएंगे।

पूरी तरह बराबरी का विलय
एचडीएफसी लिमिटेड के चेयरमैन दीपक पारेख ने विलय के बारे में बताया कि यह विलय पूरी तरह बराबरी का विलय है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि रेरा के लागू होने से हाउसिंग सेक्टर को इंफ्रास्ट्रक्चर का दर्जा मिलने व अफोर्डेबल हाउसिंग को लेकर सरकार की पहल से हाउसिंग फाइनेंस बिजनेस में अच्छी तेजी आएगी। इसके साथ ही आगे उन्होंने बताया कि पिछले कुछ साल में बैंकों और एनबीएफसी का रेगुलेशन बेहतर हो गया है जिससे अफोर्डेबल हाउसिंग को बढ़ावा मिला मिला है व कृषि सहित सभी प्रायोरिटी सेक्टर को भी ज्यादा कर्ज दिया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

BJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंबिहार में बारिश व वज्रपात से 37 लोगों की मौत, जानिए बिहार में क्यों गिरती है इतनी आकाशीय बिजली?Pegasys Spyware Case: सुप्रीम कोर्ट ने जांच समिति का कार्यकाल 4 हफ्ते बढ़ाया, अब जुलाई में होगी सुनवाईRaj Thackeray Ayodhya Visit: राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा स्थगित, पांच जून को रामलला का दर्शन करने वाले थे मनसे प्रमुखलालू के ठिकानों पर CBI Raid; सामने आई RJD की पहली प्रतिक्रिया, मात्र 5 शब्द में पूरे सिस्टम को लपेटाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद कौन होगा दिल्ली का उपराज्यपाल? चर्चा में हैं ये 5 नामRoad Rage Case: नवजोत सिंह सिद्धू ने सरेंडर के लिए कोर्ट से मांगा वक्त, खराब सेहत को बताया कारणबेंगलुरू हवाईअड्डे को बम से उड़ाने की धमकी, अधिकारियों ने शुरू की जांच
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.