अपने क्रेडिट स्कोर को इस तरह सुधार कर पाएं सस्ता कर्ज, क्या है बैकों की पेशकश?

क्रेडिट स्कोर को बेहतर करने के बाद आपको सस्ते कर्ज मिल सकते हैं। खराब क्रेडिट स्कोर होने से आपको लोन या क्रेडिट कार्ड मिलने में परेशानी हो सकती है।

By: Mohit Saxena

Published: 20 Sep 2021, 08:10 PM IST

नई दिल्ली। देश सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई (SBI) समेत कई बैंकों ने होम लोन (Home Loan) के साथ अन्य लोन को क्रेडिट स्कोर (Credit Score) से जोड़ दिया है। इसका अर्थ है कि बैंक आपको लोन देने से पहले आपके क्रेडिट स्कोर की चेकिंग करेंगे। यह जितना अच्छा होगा, लोन उतना की सस्ता मिल सकेगा।

दरअसल, क्रेडिट स्कोर किसी शख्स के कर्ज के इतिहास को दर्शाता है। इसमें किसी व्यक्ति के मौजूदा क्रेडिट अकाउंट की संख्या, कुल कर्ज, पिछले भुगतान और लोन के लिए उधारकर्ता की ओर से की गई पूछताछ का पूरा ब्योरा होता है।

ये भी पढ़ें: Anand Mahindra ने केलॉग्स उपमा पर करा ट्वीट, कहा- कभी हमारे लोकल 'चैंपियंस' के पॉवर को कम मत समझना

क्रेडिट स्कोर 700 से ऊपर होना अच्छा संकेत

क्रेडिट स्कोर 300 से 900 के बीच होता है। इसका 700 से ऊपर होना अच्छा संकेत माना जाता है। बैंक क्रेडिट स्कोर के जरिए लोन लेने वाले शख्स की भुगतान क्षमता का मूल्यांकन होता है। लोन आवेदन स्वीकृत करना है या नहीं, इसका फैसला क्रेडिट स्कोर के आधार पर करा जाता है।

खराब क्रेडिट स्कोर होने से आपको लोन या क्रेडिट कार्ड मिलने में परेशानी हो सकती है। चार तरीके हैं, जिनकी मदद से आप अपना क्रेडिट स्कोर अच्छा कर सकते हैं।

खर्च न करें 30 फीसदी से ज्यादा

क्रेडिट कार्ड की कुल लिमिट और खर्च के अनुपात को क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेश्यो (सीयूआर) कहा जाता है। इस दौरान अगर आपने एक माह में क्रेडिट कार्ड की सीमा का तीस से अधिक खर्च किया है, तो क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है। इसे बेहतर बनाने के लिए क्रेडिट कार्ड से खर्चा कम करें या दूसरे कार्ड का प्रयोग करें।

पूरे कर्ज का करें भुगतान

क्रेडिट कार्ड बिल या लोन का ईएमआई का पूरा भुगतान सही समय पर न करने पर क्रेडिट स्कोर खराब होता है। इससे कर्ज बढ़ता जाता है। भुगतान में देरी पर भी क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो जाता है। इसके लिए तय समय पर भुगतान करना जरूरी है।

कई बैंकों में आवेदन से बचें

कम ब्याज पर लोन पाने या क्रेडिट कार्ड लेने के लिए लोग अलग-अलग बैंकों में आवेदन किया करते हैं। इससे भी आपका क्रेडिट स्कोर खराब होता है। ऐसा करने से बचें। इसके अलावा, अगर आप किसी अन्य व्यक्ति के लोन गारंटर हैं और वह बकाया चुकाने में चूक कर रहा है या समय पर भुगतान नहीं कर रहा है तो इसका असर आपके क्रेडिट स्कोर पर पड़ेगा।

क्रेडिट रिपोर्ट की जांच करते रहना होगा

क्रेडिट ब्यूरो क्रेडिट स्कोर का आकलन वर्तमान बकाया लोन, बीते क्रेडिट खाते, ईएमआई भुगतान, नए लोन और क्रेडिट कार्ड आवेदन से जुड़े डाटा का उपयोग करते हैं। ऐसे में कर्जदाता की ओर से लिखा पढ़ी से जुड़ी कोई भी गलती क्रेडिट स्कोर पर बुरा असर डाल सकती है। इससे बचने के लिए अपने क्रेडिट रिपोर्ट की जांच करते रहना होगा। किसी तरह की गलत गणना को लेकर सतर्क रहने की आवश्यता है। कुछ गड़बड़ होने पर इसे ठीक कराना चाहिए।

 

 

 

 

 

 

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned