नई दिल्ली। इस वित्त वर्ष से पैसा बचाने के कई पुराने नियमों में बदलाव हो गया है। अगर आप अभी भी पैसा बचाने के लिए पुराने नियमों का पालन कर रहे हैं तो फिर इनको भूल जाइए। अब आपको अपने खर्च, निवेश के संबंध में कई नियमों को बदलना पड़ेगा। ऐसा नहीं करने पर आपको भविष्य में नुकसान हो सकता है। हम आपको ऐसे ही छह नियमों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिनमें बदलाव करने का वक्त आ गया है।

पहले लोग शेयर बाजार में सीधे तौर पर निवेश करते थे। लेकिन अब इस नियम को बदलना होगा।अब आप एसआईपी के जरिए शेयर बाजार में निवेश कर सकते हैं। इससे दीर्घ अवधि में आपका पैसा ज्यादा अच्छे से बढ़ेगा। उम्र बढ़ने के साथ ही आप अपने निवेश को कम कर सकते हैं, लेकिन यह निवेश 25 से 40 फीसदी के बीच होना चाहिए।

पहले हम अपनी कमाई का 50 फीसदी घर के खर्चों के लिए, 20 फीसदी निवेश के लिए और 30 फीसदी अन्य बड़े खर्चों के रखते थे। लेकिन अब इसमें 20 फीसदी निवेश के नियम को बदलकर 30 से 40 फीसदी करना होगा। यह आप तब कर सकते हैं, जब आपके ऊपर किसी तरह का कोई ईएमआई न हो। हालांकि अब अच्छी सैलरी होने से लोग ज्यादा पैसा निवेश कर सकते हैं।

पहले नियम होता था कि लोगों के पास करीब तीन महीने से लेकर के छह महीने फंड होना चाहिए, जिससे आप नौकरी जाने या फिर परिवार में किसी इमरजेंसी जरूरत के लिए रख सकें। हालांकि अब इसमें बदलाव करना होगा और यह नौ महीने के लिए बढ़ाना होगा, क्योंकि नौकरी मिलने की स्थिति काफी खराब है।

पहले वार्षिक सैलरी का 10 गुणा ज्यादा जीवन बीमा लेने के लिए कहा जाता था, लेकिन इस नियम में भी बदलाव हो गया है। अब आपको वार्षिक सैलरी का कम से कम 15 से 20 गुणा कवर का लेना चाहिए।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned