scriptPrivatization of BPCL stopped, govt will start new process | बीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया | Patrika News

बीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया

BPCL Disinvestment: सरकार ने BPCL के निजीकरण पर रोक लगा दी है। सरकार ने ये रोक केवल इसलिए लगाई है क्योंकि बाकी दो बोलीदाताओं ने अपने नाम वापस ले लिए हैं। जल्द ही सरकार निजीकरण के लिए नए सिरे से प्रक्रिया शुरू करेगी।

Updated: May 19, 2022 07:12:12 am

केंद्र सरकार ने भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड यानी बीपीसीएल के निजीकरण को रोक दिया है। सरकार ने भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) में अपनी पूरी 52.98 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने की योजना बनाई थी और मार्च 2020 में बोलीदाताओं को बोली लगाने के लिए आमंत्रित किया था। नवंबर 2020 तक कम से कम तीन बोलियां सामने आईं, लेकिन अब केवल एक ही बोलीदाता बचा है। बाकी दोनों ने अपनी पेशकश वापस ले ली है जिसके पीछे का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। सरकार अब नए सिरे से BPCL का निजीकरण शुरू करेगी।
Privatization of BPCL stopped, govt will start new process
Privatization of BPCL stopped, govt will start new process
क्यों रुका विनिवेश
सरकारी सूत्रों के अनुसार, "हम एकल बोली लगाने वाले की स्थिति में हैं और इसका मतलब ये नहीं है कि कोई बोली लगाने वाला अपनी शर्तें लगा सकता है... इसलिए विनिवेश प्रक्रिया अभी के लिए रुकी हुई है।"

दूसरी सबसे बड़ी सरकारी रिफाइनरी कंपनी के निजीकरण के लिए अधिक खरीदार नहीं मिल सके हैं। इसके पीछे का कारण अस्थिर वैश्विक तेल मूल्य परिदृश्य और फिर घरेलू ईंधन मूल्य निर्धारण में स्पष्टता की कमी को बताया जा रहा हैै। सार्वजनिक क्षेत्र के ईंधन खुदरा विक्रेता पेट्रोल और डीजल को लागत से कम कीमतों पर बेचते हैं जिससे प्राइवेट सेक्टर के खुदरा विक्रेताओं को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।
यह भी पढ़ें

शेयर बाजार में ट्रेडिंग अकाउंट के नाम पर ठगी करने वाला कंपनी का डायरेक्टर गिरफ्तार

किन निवेशकों ने अपने नाम लिए वापस?
अनिल अग्रवाल के वेदांत समूह और यूएस वेंचर फंड अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट इंक और आई स्क्वेयर्ड कैपिटल एडवाइजर्स ने बीपीसीएल में सरकार की 53 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी। बाद में दोनों वैश्विक निवेशकों ने अपनी बोलियाँ वापस ले लीं।

बता दें कि देश की दूसरी सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी BPCL का मौजूदा बाजार पूंजीकरण करीब 848.27 अरब रुपये यानि कि 11.4 अरब डॉलर है।

यह भी पढ़ें

रिकॉर्ड महंगाई के बाद फिर बढ़ने वाले हैं डीजल-पेट्रोल के दाम !

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Udaipur Murder Case: पूरे देश में तनाव का माहौल, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा- CM Ashok Gehlot, देखें Video...Udaipur : उदयपुर में आगजनी-पत्थरबाजी, इंटरनेट बंद, कर्फ्यू लगाया, पूरे राज्य में अलर्टUdaipur में नूपुर शर्मा के सपोर्ट में पोस्ट करने पर युवक की गला काटकर हत्या, सोशल मीडिया पर जारी किया वीडियोMaharashtra Political Crisis: देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से की मुलाकात, जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कीदीपक हुडा ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का लगाया पहला शतक, आयरलैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियांPunjab: सीएम भगवंत मान का ऐलान, अग्निपथ के खिलाफ विधानसभा में लाएंगे प्रस्ताव, होगा किसान आंदोलन जैसा विरोध!Maharashtra Political Crisis: पुत्र और प्रवक्ता बालासाहेब के शिवसैनिकों को बोल रहे भैंस-कुत्ता, उद्धव ठाकरे की अपील का एकनाथ शिंदे ने दिया जवाबMaharashtra: ईडी ने शिवसेना नेता संजय राउत को फिर भेजा समन, जमीन घोटाले के मामले में 1 जुलाई को पेश होने के लिए कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.