प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत, ग्रेज्यूटी बढ़कर होगी 20 लाख रुपए

प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत, ग्रेज्यूटी बढ़कर होगी 20 लाख रुपए
sector employees

kamlesh sharma | Updated: 24 Feb 2017, 07:01:00 PM (IST) बिजनेस

संगठित सेक्टर के कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत की खबर है। संगठित क्षेत्र के कर्मचारी जल्दी ही 20 लाख रुपए तक की टैक्स फ्री ग्रेच्युटी के लिए पात्र हो जाएंगे।

 संगठित सेक्टर के कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत की खबर है। संगठित क्षेत्र के कर्मचारी जल्दी ही 20 लाख रुपए तक की टैक्स फ्री ग्रेच्युटी के लिए पात्र हो जाएंगे। केंद्रीय ट्रेड यूनियन ग्रेच्युटी भुगतान कानून में प्रस्तावित संशोधन पर त्रिपक्षीय बैठक में अंतरिम उपाय के रूप में ग्रेच्युटी भुगतान की सीमा दोगुनी करने पर सहमत हो गए हैं। 



आपको बता दें कि अभी तक प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारी 10 लाख रुपए तक कर मुक्त ग्रेच्युटी के लिए पात्र हैं, जबकि सरकारी कर्मचारियों को यह फायदा 20 रुपए तक पर मिलता है।


सावधानः ATM से निकल रहे हैं चूरन वाले 2000 के नोट, आप इस तरह परेशानी से बचें


दिल्ली में गुरुवार को केंद्रीय श्रम मंत्री व मजदूर संगठन के नेताओं के साथ हुई बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक में श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने ग्रेच्युटी की राशि 20 लाख रुपए किए जाने पर सहमति जताई है। 

18 लाख कर बकायादारों को बड़ी राहत, केंद्र सरकार ने माफ किया सबका टैक्स


इसके तहत श्रम मंत्रालय और राज्यों के प्रतिनिधियों ने इस प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है, जिसके जरिए अब जल्द ही प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारी भी 20 लाख रुपए तक टैक्स फ्री ग्रेच्युटी के लिए पात्र होंगे। केन्द्र ने यह फैसला किया है कि प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों की ग्रेच्युटी की राशि को दोगुना करते हुए सरकारी कर्मचारियों के बराबर किया जाए। 

70 साल से अधिक उम्र के लोगों के खाते में 5 लाख तक के डिपॉजिट्स का नहीं होगा वेरिफिकेशन


ये कदम सातवें वेतन आयोग की उस सिफारिश के बाद उठाया गया है, जिसमें केन्द्रीय कर्मचारियों को 20 लाख रुपए तक की ग्रेच्युटी को टैक्स फ्री किए जाने की बात कही गई थी।  


मीटिंग में श्रम मंत्री ने यह भी कहा कि लाए जाने वाले बिल में यह भी व्यवस्था होगी कि जब-जब वेतन आयोग की तरफ से केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए ग्रेच्युटी को लेकर कोई बदलाव होगा, तो वह प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों के लिए भी मान्य होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned