2019 के लोकसभा चुनावों के लिए एक और पार्टी मैदान में, इकोनॉमी से लेकर एकजुटता पर फोकस

2019 के लोकसभा चुनावों के लिए एक और पार्टी मैदान में, इकोनॉमी से लेकर एकजुटता पर फोकस

2019 के लोकसभा चुनावों से पहले राजनीतिक दलों ने कमर कस ली है। इस चुनावी दंगल में उतरने के लिए कई नए दल भी सामने आ रहे हैं

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले राजनीतिक दलों ने कमर कस ली है। इस चुनावी दंगल में उतरने के लिए कई नए दल भी सामने आ रहे हैं। हाल ही में एक राष्ट्रीय दल ने लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए दस्तक दी है। इस दल का गठन पिछले दिनों दिल्ली के होटल ली मेरिडियन में हुआ था। इस पार्टी का नाम नेशनल कॉमन राइट पार्टी रखा गया है। पार्टी के कुछ नेता इससे पहले NCP से जुड़े रहे हैं।

इनपर होगा फोकस

पार्टी के अध्यक्ष व फाउंडर अरुमुगम आनंतह कुमार ने पार्टी का उदघाटन करते हुए बताया कि हम सब को शिक्षा पर ध्यान देना होगा तभी दुनिया से भ्रष्टाचार खत्म हो सकता है। आनंतह ने बताया कि उनकी पार्टी आगामी लोकसभा चुनावों में 360 उम्मीदवार उतारेगी। उन्होंने बताया कि कई मौजूदा और पूर्व सांसद उनकी पार्टी के संपर्क में हैं। इस मौके पर पार्टी के जरनल सेकेट्री राकेश सेठिया, कोषाध्क्ष राहुल कुमार, देवेंद्र भार्गव वाइस प्रेसिडेंट मध्यप्रदेश, योगेंद्र कुमार यादव वाइस प्रेसीडेंट उत्तर प्रदेश ने भी पार्टी को मजबूत करने का आह्वान किया। नई नवेली यह पार्टी अगले चुनावों में जोर शोर से टक्कर देने की तैयारी में जुट गई है।

 

एकजुटता लाना है प्राथमिकता

पार्टी के कोषाअध्यक्ष राहुल कुमार का मानना है कि इस पार्टी का असली मु्ददा है देश में एकजुटता लाना। वहीं पार्टी के फाउंडर अरुमुगम आनंतह कुमार ने मीडिया को बताया पार्टी का मुख्य मकसद सभी जाति-धर्म को एकसुत्र में बांधना है। आनंतह कुमार के मुताबिक आज के दौर में अगर कोई भारतीय विदेश में जाता है तो उसे भारतीय नहीं बल्कि उसे उसकी जाति से बुलाया जाता है। जिसे खत्म करना बेहद जरुरी है। क्योंकि जब भारतीयों को को भारतीय कहकर बुलाया जाएगा तभी ये देश सफलता के नये आयाम लिखेगा। पार्टी की रणनीति पर बात करते हुए कुमार न कहा कि पार्टी अगले चुनाव में इस मुद्दे को जोर शोर से उठाएगी, और सभी 360 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी।

Ad Block is Banned