बजट से पहले सरकार का बड़ा तौहफा, GST दरें घटने से सस्ती हुई पुरानी कारें

जीएसटी कम करने का फैसला तो वैसे तो पिछले हफ्ते ले लिया गया था, लेकिन सरकार ने इसे 25 जनवरी 2018 से लागू कर दिया है

By: कमल राजपूत

Published: 26 Jan 2018, 12:58 PM IST

साल 2018 का बजट आने में अभी कुछ दिन बचे है लेकिन केन्द्र सरकार ने इससे पहले ही आम आदमी को राहत दे दी है। जी हां पिछले हफ्ते केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्‍यक्षता में जीएसटी काउंसिल की 25वीं बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में इस्‍तेमाल किए गए वाहनों से भी जीएसटी कम करने का निर्णय लिया गया।

बता दें सरकार के इस फैसले से देश में पुरानी कारों के बाजार और इसके खरीदारों को बड़ी राहत मिली है। जीएसटी कम करने का फैसला तो वैसे तो पिछले हफ्ते ले लिया गया था, लेकिन सरकार ने इसे 25 जनवरी 2018 से लागू कर दिया है। ऐसे में यदि आप पुरानी कार खरीदने की तैयारी में हैं तो अब आपको पहले की तुलना में कम टैक्‍स चुकाना होगा।

जीएसटी लागू होने के बाद भारत में बड़े आकार की कारें और एसयूवी पर 28% टैक्स लगाया गया था। जिसे घटाकर अब 18% कर दिया गया है। जबकि छोटे आकार की कारों और मोटर वाहनों पर जीएसटी के तहत 28% टैक्स लगा था, वह अब घटकर 12% रह गया है। इसके साथ ही दोनों ही श्रेणियों में लगने वाले सैस को भी सरकार ने वापस ले लिया है। लागू हुई दरों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की उन बसों को ही शामिल किया गया जो सिर्फ बायो फ्यूल से ही चलती हैं।

इन सबके अलावा GST काउंसिल की ओर से सबसे बड़ी घोषणा एंबुलेंस को लेकर की गई है। एंबुलेंस पर लगने वाले सैस को पूरी तरह से हटा दिया गया है जो कि अब तक 15 प्रतिशत था। नई जीएसटी दरों का असर लगभग सभी ऑटोमोबाइल कंपनियों पर पड़ेगा। इनमें वो लग्ज़री कार कंपनियां भी शामिल हैं जो इस्तेमाल की हुई कारों के बाज़ार का भी हिस्सा हैं। पुरानी कारों के बड़े डीलर्स के रूप में यहां पर मारुति की ट्रू वेल्यू और महिंद्रा फर्स्ट चॉइस शामिल हैं।

कमल राजपूत Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned