scriptHyundai Alcazar SUV base variant costlier than rivals, here's the reason | आखिर क्यों Hyundai Alcazar का बेस वेरिएंट है सफारी-हेक्टर प्लस से महंगा | Patrika News

आखिर क्यों Hyundai Alcazar का बेस वेरिएंट है सफारी-हेक्टर प्लस से महंगा

Hyundai की लेटेस्ट एसयूवी Alcazar का मुकाबला Tata Safari और MG Hector Plus जैसी प्रतिद्वंद्वियों से है और बावजूद इसके कंपनी ने इसके बेस वेरिएंट के दाम काफी ज्यादा रखे हैं।

नई दिल्ली

Updated: June 20, 2021 09:35:18 pm

नई दिल्ली। Hyundai Motor ने अपनी नवीनतम कार Alcazar SUV को 16.30-20 लाख (एक्स-शोरूम) की कीमत में पेश किया है। तीन-पंक्तियों वाली इस एसयूवी का मुकाबला टाटा सफारी और एमजी हेक्टर प्लस जैसी प्रतिद्वंद्वियों से है। हालांकि बिल्कुल-नई Hyundai Alcazar का बेस प्राइस यानी शुरुआती कीमत इसके दो प्रतिद्वंदियों से ज्यादा है। जहां, सफारी की कीमत 14.99-21.81 लाख (एक्स-शोरूम) के बीच है, हेक्टर प्लस की कीमत 13.62-19.60 लाख (एक्स-शोरूम) रुपये है।
Hyundai Alcazar SUV base variant costlier than rivals, here's the reason
Hyundai Alcazar SUV base variant costlier than rivals, here's the reason
Hyundai Alcazar के बेस ट्रिम का नाम Prestige है और यह Safari के बेस वेरिएंट से 1.30 लाख और MG Hector Plus के बेस मॉडल से 2.70 लाख महंगी है। आमतौर पर, पहली बार लॉन्च होने पर नई कारें अन्य कंपनियों की तुलना में बेहद प्रतिस्पर्धी मूल्य में पेश की जाती हैं। ऐसे में Alcazar की कीमत उसकी दो प्रतिद्वंदियों से ज्यादा रखी गई है।
ह्युंडई द्वारा अपनाई गई यह एक नई रणनीति है। दक्षिण कोरियाई ऑटो निर्माता ने कहा कि ग्राहक Alcazar प्रीमियम एसयूवी के सभी वेरिएंट में कई फीचर्स की उम्मीद कर सकते हैं। यही कारण है कि हुंडई ने इस एसयूवी के लिए नो-फ्रिल्स बेस वेरिएंट ना रखने का फैसला लिया है।
हम आमतौर पर जो पेशकश करते हैं, यह उससे एक कदम दूर है क्योंकि Alcazar के ग्राहक शुरुआती तीन वेरिएंट्स में एक फीचरों से भरी हुई कार चाहते हैं।
क्या कारण है?

इसका कारण नई एसयूवी में मिलने वाली फीचर की लंबी लिस्ट है। ऐसा लगता है कि हुंडई ने बेस ट्रिम में भी ज्यादा से ज्यादा फीचर्स देने की रणनीति बनाई है। यह कुछ ऐसा है जो कार निर्माता ऑफर पर कारों के हायर ट्रिम्स खरीदने के लिए खरीदारों को लुभाने के प्रयास में टालते हैं।
हुंडई आमतौर पर चार वेरिएंट के साथ नए मॉडल लाने की रणनीति अपनाती है। बेस से ऊपर का दूसरा वेरिएंट शुरुआती बेस मॉडल की तुलना में कई सुविधाओं से लैस होता है। ऐसे में Hyundai ने केवल तीन वेरिएंट पेश किए है, जिनका नाम प्रेस्टीज, प्लेटिनम और सिग्नेचर है। प्रेस्टीज वैरिएंट में क्रिएचर कम्फर्ट फीचर्स, सेफ्टी फीचर्स स्टैंडर्ड के तौर पर मिलते हैं।
क्रिएचर कम्फर्ट फीचर्स के मामले में Alcazar में ब्लूलिंक कनेक्टिविटी, पैनोरैमिक सनरूफ, कूल्ड ग्लवबॉक्स, वायरलेस चार्जिंग, क्रूज़ कंट्रोल आदि के साथ 10.25-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम मिलता है। ये ऐसे फीचर्स नहीं हैं जो आमतौर पर कारों के बेस मॉडल में उपलब्ध हों। इसके अलावा, यह एसयूवी छह और सात-सीटर दोनों विकल्पों में उपलब्ध है, जो इसकी सवारियों के लिए ज्यादा स्थान और आराम प्रदान करती है।
Hyundai Alcazar Prestige को स्टैंडर्ड के रूप में सुरक्षा सुविधाओं की एक विस्तृत श्रृंखला मिलती है। इसमें ऑटोमैटिक हेडलैंप, एलईडी फॉग लैंप, ऑटो-डिमिंग रियरव्यू मिरर, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल (ईएससी), व्हीकल स्टेबिलिटी मैनेजमेंट (वीएसएम), हिल स्टार्ट असिस्ट (एचएसी), टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम (टीपीएमएस), रियर पार्किंग कैमरा आदि शामिल हैं।
क्या यह रणनीति काम करेगी?
दरअसल, हिंदुस्तानी ग्राहक अब भरपूर फीचर्स के साथ आने वाली कारों के उच्च ट्रिम को अपनाने में ज्यादा खुले हैं। फीचर्स के साथ आने वाले उच्च वेरिएंट्स अपने मॉडल के बेस वेरिएंट्स की तुलना में ज्यादा खरीदारों को आकर्षित करते हैं।
हुंडई ने इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए नो-फ्रिल बेस वेरिएंट की पेशकश नहीं करने की रणनीति बनाई है। यही कारण है कि दक्षिण कोरियाई ऑटो निर्माता ने बाकी लाइनअप की तरह अल्काज़ार के लिए चार वेरिएंट की रणनीति लाने का विकल्प नहीं चुना। हालांकि, यह रणनीति कारगर होगी या नहीं यह तो वक्त ही बताएगा।
newsletter

अमित कुमार बाजपेयी

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नामबिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Google ने दिल्ली हाई कोर्ट को दी जानकारी, हटाए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के खिलाफ पोस्ट वेब लिंक'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी कीAsia Cup 2022 के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, विराट कोहली-केएल राहुल की हुई वापसी'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.