जगुआर की इस तकनीकि से दिव्यांगो के लिए आसान बनेगा सफर, जानें कैसे काम करेगी ये

जगुआर की इस तकनीकि से दिव्यांगो के लिए आसान बनेगा सफर, जानें कैसे काम करेगी ये

Pragati Bajpai | Publish: Oct, 13 2018 01:42:25 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 01:42:26 PM (IST) कार

आजकल कई कंपनियां ऐसी कार बनाती हैं जो बहुत ही कम आवाज करती हैं। जिसे सुन पाना हर किसी के बस की बात नहीं है।

नई दिल्ली: आंखो के बिना जिंदगी बिताना बेहद मुश्किल होता है, आपने भी देखा होगा कई बार सड़क पर कोई दिव्यांग ( ब्लाइंड) व्यक्ति सड़क पार करने की कोशिश कर रहा होता है तो ऐसा लगता है जाकर उनकी हेल्प कर दे लेकिन हमेशा कोई ऐसा इंसान आस-पास मदद के लिए मौजूद हो जरूरी नहीं। ऐसे लोग अक्सर आस-पास की आवाज के आधार पर रास्त पार करते हैं लेकिन अगर कार में आवाज बेहद कम हो तो, उस हालात में इनकी मुश्किल का अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता। और आजकल कई कंपनियां ऐसी कार बनाती हैं जो बहुत ही कम आवाज करती हैं। जिसे सुन पाना हर किसी के बस की बात नहीं है। इसी को ध्यान में रखकर एक नई तकनीकी पर काम किया जा रहा है।

दरअसल मशहूर कार कंपनी जगुआर दिव्यांग (ब्लाइंड) लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक अनोखी तकनीक लेकर आ रही है। जगुआर ने अपनी इस तकनीकी को AVAS sound Warning System का नाम दिया है जिसका प्रयोग कंपनी अपनी आने वाली आई-पेस इलेक्ट्रिक एसयूवी में करेगी। AVAS का मतलब है आॅडिएबल व्हीकल एलर्ट सिस्टम, जिसे कंपनी के विशेष रिसर्च टीम और इंजीनियरों ने तैयार किया है। ये किसी प्रकारका लाउड हॉर्न नहीं होगा। ये साउंड उस वक्त निकलेगा जब वाहन की गति तकरीबन 20 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पर पहुंचेगी। ये तकनीकि जुलाई 2019 से लागू होगी।

इस तकनीक का प्रयोग कंपनी अपनी इलेक्ट्रिक कारों में करेगी जो कि विशेष प्रकार की ध्वनि निकालेंगे। जो न तो ध्वनि प्रदूषण का कारण बनेंगे और न किसी दूसरे को इस ध्वनि से परेशानी होगी, अलबत्ता इससे दिव्यांग (ब्लाइंड) लोगों को सड़क पर गाड़ी होने का अंदाजा जरूर हो जायेगा।

इस तकनीकी का बाकायदा परीक्षण भी किया गया है। जिसे युनाइटेड किंगडम की लीडिंग चैरिटी संस्थान गाइड डॉग फॉर ब्लाइंड के सदस्यों द्वारा किया गया है। यहां सबसे बड़ी बात ये है कि इस कार के साउंड को किसी भी तरह से बंद नहीं किया जा सकता है। स्पीड बदलने के साथ ही इस कार से निकलने वाली आवाज भी बदल जाएगी। फास्ट स्पीड के कारण ये स्पीकर और भी तेज आवाज करेगा जिससे कि सड़क पर पैदल चल रहे लोगों को इसकी आवाज आसानी से सुनाई दे सके। इसके अलावा यदि वाहन को बैक किया जायेगा तो उस वक्त भी ये आवाज निकलेगी हालांकि उस समय इसकी ध्वनि थोड़ी बदली होगी। खैर जगुआर के इस ट्किनिक से दिव्यांगों को काफी फायदा होने की उम्मीद है।

Ad Block is Banned