यह कार पढ़ लेगी आपका मन, टेस्टिंग कर रहा जगुआर

यह कार पढ़ लेगी आपका मन, टेस्टिंग कर रहा जगुआर

जगुआर लैंड रोवर के अनुसार कार के स्टीयरिंग व्हील में लगे सेंसर्स से मस्तिष्क तरंगों को पहचाना जा सकता है।

कार का ड्राइवर ड्राइविंग के दौरान सपनों में खोया हुआ है या फिर उसे नींद आ रही है, क्या यह बात कार भी जान सकती है? सुनने में भले ही अजीब लगे, लेकिन जगुआर लैंड रोवर (जेएलआर) कार निर्माता कम्पनी ऐसे हाई-टैक सिस्टम विकसित करना चाहती है। कम्पनी ड्राइवर की ब्रेनवेव्ज, हार्ट रेट और सांस पर आधारित गणना से ऐसे अत्याधुनिक उपकरण विकसित करने पर काम रही है जो भविष्य में ड्राइवर के मन-मस्तिष्क को पढ़कर सूचनाएं प्रेषित करेंगे। ये सभी टेस्ट जेएलआर अपनी कार जगुआर एक्सजे पर कर रही है।

दिल की धड़कन सुनेगी कार सीट

जेएलआर एक ऐसी हाई-टैक सीट बनाने पर काम कर रही है जो ड्राइवर की दिल की धड़कन और सांस लेने की गति का विश्लेषण कर उसके स्वास्थ्य और तनाव की मात्रा को बता देगी। इसके अलावा कम्पनी ऐसी टच स्क्रीन तकनीक भी विकसित कर रही है जिससे कार के आडियो/वीडियो के किसी बटन को दबाने के पूर्व ही सिस्टम समझ लेगा कि ड्राइवर अमुक बटन दबाना चाह रहा है। इससे ड्राइवर को इन बटनों को देखने में लगने वाला समय कम होगा और उसका ज्यादा से ज्यादा ध्यान सामने रोड पर रहेगा।

मस्तिष्क की तरंगों पर नजर रखेगा हाई-टैक सिस्टम

जेएलआर के अनुसार कम्पनी अमरीका की स्पेश एजेंसी नासा के उस मैथड का भी अध्ययन कर रही है जिसमें प्लेन पायलेट की मस्तिष्क तरंगों को पढ़ा जा सकता है। इसी पर आधारित एक नया मैथड बनाने पर काम चल रहा है जिससे ड्राइवर के ध्यान और फोकस को और बेहतर बनाया जा सके। जेएलआर के अनुसार कार के स्टीयरिंग व्हील में लगे सेंसर्स से मस्तिष्क तरंगों को पहचाना जा सकता है। फिलहाल कम्पनी ज्यादा से ज्यादा ऐसे टेस्ट कर रही है जिसमें स्टीयरिंग व्हील में लगे सेंसर्स के परिणामों का अध्ययन संभव हो पा रहा है।
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned