पेट्रोल या डीजल नहीं बल्कि इस 'खास तेल' से चलते हैं इस कंपनी के डिलीवरी ट्रक

पेट्रोल या डीजल नहीं बल्कि इस 'खास तेल' से चलते हैं इस कंपनी के डिलीवरी ट्रक

Pragati Vajpai | Publish: Jul, 28 2018 01:32:50 PM (IST) कार

इसके लिए एक खास टीम तैयार की है जो सभी रेस्टोरेंट से बचे हुए कुकिंग आॅयल को इकट्ठा करता है। ये टीम एक समय के बाद

नई दिल्ली: प्रदूषण की समस्या ऐसी है जिससे हर कोई परेशान है यही वजह है कि सरकारें आए दिन अलग-अलग नार्म्स लगाकर प्रदूषण को कंट्रोल करने की बात करती है। सीएनजी हो या इलेक्ट्रिक व्हीकल्स सभी के पीछे एक ही उद्देश्य है पॉल्यूशन को कंट्रोल करना। इसी दिशा में फास्ट फूड बनाने वाली कंपनी मैक्डोनॉल्ड्स ने अलग ही कारनामा किया है।दरअसल अब तक आपने पेट्रोल और डीजल से चलने वाली ट्रकों के बारे में सुना होगा लेकिन मैकडॉनल्ड्स ने अपने डिलीवरी वाले ट्रकों में खाने वाले तेल से बने बायोडीजल का प्रयोग करना शुरू कर दिया है।

क्रैश टेस्ट में पास हुई मारुति की ये 9 कारें, एक्सीडेंट के दौरान ड्राइवर को नहीं आएगी खरोंच

अगर आप सोच रहे हैं कि ये शुरूआत फॉरेन में ही पॉसिबल है तो आप गलत है क्योंकि मैकडॉनल्ड्स ने ये शुरूआत विदेशों में नहीं बल्कि मुंबई में की है।मैकडॉनल्ड्स ने मुंबई में अपने डिलीवरी ट्रकों को पॉवर सप्लाई करने के लिए रिसाइकल्ड कुकिंग आॅयल यानी की खाना बनाने वाले तेल का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। ये एक प्रकार का बायोडीजल है जो कि वाहनों में सफलतापूर्वक प्रयोग किया जा रहा है।

Hero ने अचानक शुरू की 2 साल पहले बंद हुई इस बाइक की बिक्री, जानें इस बार क्या है खास

macd

मैकडॉनल्ड्स ने ये शुरूआत पिछले साल की थी जो अब उसके लगभग 85 आउटलेट तक पहुंच चुकी है।आपको बता दें कंपनी लगभग 35 हजार लीटर तेल का इस्तेमाल इस काम के लिए करती है और इससे उन्हें काफी फायदा भी हो रहा है।

मैक्डी ने इसके लिए एक खास टीम तैयार की है जो सभी रेस्टोरेंट से बचे हुए कुकिंग आॅयल को इकट्ठा करता है। ये टीम एक समय के बाद सभी आॅउटलेट्स पर पहुंचता है और बचा हुआ कुकिंग आॅयल इकट्ठा करता है।जिसे बाद में उस प्लांट में भेजा जाता है जहां इस कुकिंग आॅयल को बायोडीजल में बदलने के बाद ट्र्क्स में भेजा जाता है।

कुकिंग आॅयल को बायोडीजल में बदलने के लिए एक अलग प्लांट बनाया है जहां एक्सपर्ट्स की एक टीम इस काम को अंजाम देती है।

कंपनी की योजना है कि, आगामी 4 वर्षों में वो अपने 450 से 500 स्टोर पर इस तरह की सुविधा शुरू कर देगी जिससे ज्यादा से ज्यादा क्रूड आॅयल की बचत की जा सके.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned