बारिश में बहुत काम आते हैं कार के वाइपर्स, एक्सीडेंट से बचाने का करते हैं काम

कई बार वाइपर्स खराब होने की वजह से न सिर्फ बारिश में देखना मुश्किल हो जाता है बल्कि वाइपर ठीक न हो तो विंडशील्ड भी खराब हो सकती है।

By: Pragati Bajpai

Published: 12 Aug 2020, 04:46 PM IST

नई दिल्ली: बारिश के मौसम ( Rainy Season ) में कार चलाने वालों की सबसे बड़ी मुसीबत होती है विंडशील्ड ( windshield ) का धुंधला होना। कई बार वाइपर्स खराब होने की वजह से न सिर्फ बारिश में देखना मुश्किल हो जाता है बल्कि वाइपर ठीक न हो तो विंडशील्ड भी खराब हो सकती है। वाइपर कार की उन चीजों में शामिल हैं जिस पर सबसे कम ध्यान दिया जाता है। जबकि यह बड़ा नुकसान कर सकते हैं। इसीलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं जिनसे आप न सिर्फ अपनी कार के वाइपर्स ( car wipers ) का ध्यान रख सकते हैं बल्कि बारिश के मौसम में कार का भी ध्यान ( car care rainy season ) रख पाएंगे।

Mahindra का बंपर ऑफर, Scorpio पर मिल रहा है 60 हजार का डिस्काउंट

  • वाइपर को धूप से बचाना बेहद जरूरी है। धूप वाइपर के रबर को खराब कर देती है। कार वाइपर ( car wiper ) की रबर जरा भी कड़ी महसूस हो या कटी-फटी दिखे तो तुरंत बदलें।
  • विंडशील्ड वाइपर्स गीली सतह को साफ करने के लिहाज से बने होते हैं। इसीलिए गलती से भी कभी भी सूखी विंडशील्ड तो वाइपर से न साफ करेंं।
  • आखिरी मौका! आज ही खरीदें MG Hector Plus, 13 अगस्त के बाद बढ़ सकती है कीमत

  • कई बार कार की विंडशील्ड पर बर्फ गिरकर जमा हो जाती है। इस बर्फ को भी कभी वाइपर से हटाने की कोशिश नहीं करना चाहिए। वाइपर से बरफ साफ करने से विंडशील्ड पर स्क्रैच पड़ जाते हैं, और वाइपर ( car wipers ) भी खराब हो जाता है।
  • वाइपर बिना इस्तेमाल के भी खराब हो जाते हैं इसीलिए टाइम पर इन्हें बदल देना चाहिए। जैसे ही आपको लगता है कि वाइपर दिक्कत दे रहे हैं या कई दिनों तक इस्तेमाल न करने से भी वाइपर खराब हो जाते हैं। यानि कुछ सौ रूपए बचाने के लालच में आप हजारों रूपए का नुकसान उठा सकते हैं।
Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned