हमारे देश में दाएं तरफ ही क्यों होता है कार में स्टीयरिंग ?

1756 में इंग्लैंड में इसे कानून बना दिया गया और इस कानून का पालन सभी ब्रिटिश शासित देशों में किया जाने लगे।

नई दिल्ली: आप अगर विदेश गए हैं तो आपने भी देखा होगा नहीं तो मूवीज में तो देखा ही होगा कि पूरी दुनिया के ज्यादातर देशों में कार में स्टीयरिंग बाएं तरफ होता है लेकिन हमारे देश में ये दाएं तरफ होता है । ये देख आपके दिमाग में भी कभी न कभी ये सवाल जरूर आया होगा कि आखिर ऐसा क्यों ? अगर आप जवाब जानते हैं तो बहुत अच्छी बात है नहीं तो आज हम आपको बताएंगे कि आखिर इसके पीछे की वजह क्या है।

दरअसल, इंग्लैंड में शुरू से ही कारें सड़क के बायीं ओर ही चलतीं हैं। 1756 में इंग्लैंड में इसे कानून बना दिया गया और इस कानून का पालन सभी ब्रिटिश शासित देशों में किया जाने लगे। भारत भी इंग्लैंड का गुलाम रह चुका है और इस कारण भारत में भी ये कानून लागू हुआ और कारें सड़के के बायीं ओर चलने लगीं। लेकिन ये इतना आसान नहीं था । चलिए अब आपको हम पूरी कहानी बताते हैं

पहली बार सामने आई hyundai Creta के interior की तस्वीरें, कंपनी ने जारी किया स्केच

दरअसल जब भारत में अंग्रेजों का राज था तो सबसे पहले यातायात के लिए घोड़ागाड़ी यानि कि बग्घी का इस्तेमाल किया जाता था। जब बग्गी चलाने वाला बग्घी में आगे बनी अपनी सीट पर बैठता था तो वो दाईं ओर बैठता था। ताकि सामने से आ रही बग्घियों को ठीक से देख पाए और उनकी बग्घी में लड़े बिना अपनी बग्घी को निकाल सके।

धीरे-धीरे बग्घियों की जगह कारों ने ले ली, लेकिन ड्राइवर सीट को दांए ही रखा गया था, ताकि ड्राइवर कार चलाते वक्त सामने से आ रही कारों को अच्छे से देख पाए और उनसे बचा कर अपनी कार को निकाल सके।

1 लीटर में 90 किमी चलती है Bajaj की ये बाइक, कीमत मात्र 35000 रुपए

Pragati Bajpai Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned