12वीं के बाद करें ये कोर्स! जॉब की शुरूआत में ही मिलेगी 20 से 25 हजार रुपए सैलेरी

12वीं कक्षा पास करने के बाद यह कोर्स करने पर मिलेगी 20 से 25 हजार रुपए की सैलेरी

ग्लैमर इंडस्ट्री युवाओं को हमेशा से आकर्षित करती रही है। आज के समय में रोजगार के आॅप्शन भी काफी बढ़ चुके हैं। इवेंट मैनेजमेंट एक ऐसा ही चकाचौंध वाला रोजगार है जो युवाओं द्वारा काफी पसंद किया जाताा है। यह उद्योग करीब एक दशक पूर्व ही शुरू हुआ था जिसमें वर्ष दर वर्ष कई सौ फीसदी की बढ़ोतरी हो रही है। इस प्रोफेशन की सबसे खास बात ये है की कॅरियर में बड़े निवेश की भी जरूरत नहीं होती। इस पेशे में काम करने वालों को अपनी रचनात्मकता प्रदर्शित करने के कई मौके मिलते हैं। इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि इस पेशे में किसी भी विषय के छात्र अपना कॅरियर बना सकते हैं।

आज के समय में आए दिन कोई न कोई उत्सव आयोजित किया जाता है। घर में शादी-ब्याह हो या बाहर चुनाव, क्रिकेट जगत में आईपीएल हो या कालेज में सालाना उत्सव, इन सबकी तैयारी के लिए न तो लोगों के पास इतना वक्त होता है और न ही आदमी कि वे समय रहते काम पूरा कर लें। ऐसे में इस तरह के आयोजनों का जिम्मा खास तरह के लोगों को या ऐसे लोगों को दिया जाता है जो इससे जुड़े रहे हों, इस क्षेत्र में खासा अनुभव रखते हो, आयोजन कराने का जिम्मा लेने वाला इसके एवज में अच्छी-खासी रकम वसूलता है। यह काम अब प्रोफेशन के रूप में तबदील हो गया है। इसके लिए कंपनियां बन गई हैं, जहां प्रशिक्षित लोगों की टीम काम करती है।

इवेंट मैनेजर ये करते हैं काम
इवेंट मैनेजमेंट से जुड़े लोग किसी व्यावसायिक या सामाजिक समारोह का आयोजन करते हैं। इसमें मुख्य रूप से फैशन शो, संगीत समारोह, शादी समारोह, थीम पार्टी, प्रदर्शनी, कारपोरेट सेमिनार, प्रोडक्ट लांचिंग, प्रीमियर के प्रोग्राम शामिल होते हैं। इवेंट मैनेजर क्लाइंट या कंपनी के बजट को ध्यान में रखकर प्रोग्राम का आयोजन करते हैं, होटल या हॉल बुक करने, साज-सज्जा,एंटरटेनमेंट, लंच-डिनर के लिए खास तरह के मेन्यू को तैयार करवाने, गेस्ट के स्वागत तक की व्यवस्था इवेंट मैनेजमेंट ग्रुप में शामिल लोगों को करनी होती है।

कोर्स के बाद ऐसे होता है कार्य
इवेंट मैनेजमेंट में कई तरह के कोर्स किए जा सकते हैं। इसमें कारपोरेट इवेंट एंटरटेनमेंट, स्पोर्ट इनोवेशन, मार्केटिंग, प्रोमोशन जैसे कई तरह के कोर्स हैं। इस कोर्स के लिए दाखिला लेने वाले छात्रों से पहले पूछा जाता है कि वे किस क्षेत्र में रुचि रखते हैं। इस क्षेत्र में आने से पहले आप इस बात का भी ध्यान रखें कि आपको अंग्रेजी और हिंदी, दोनों भाषा का अच्छी तरह ज्ञान हो। क्योंकि किसी भी इवेंट में देश-विदेश की भाषाओं के मेहमान आते हैं, उनसे बातचीत के लिए अंग्रेजी एक जरिया बनती है। कारपोरेट इवेंट का काम आमतौर पर बड़े-बड़े होटलों से जुड़ा है। होटलों में दो कंपनियों के बीच व्यापार समझौता और फिर इस खुशी में पार्टी और मनोरंजन जैसी चीजें भी शामिल होती हैं। मेहमानों की खातिरदारी में कोई कमी न हो, यह जिम्मा कारपोरेट इवेंट मैनेजर को निभाना होता है। एंटरटेनमेंट के तहत कहीं सीरियल, तो कहीं फिल्म रिलीज की जाती है। इस काम को एंटरटेनमेंट इवेंट मैनेजर को बखूबी सफल बनाना होता है।

कोर्स के लिए योग्यता
कोर्स 12वीं के बाद किया जा सकता है। हालांकि इसके पहले लिए ट्रेनिंग या कोर्स की जरूरत नहीं पड़ती थी, लेकिन अब स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर इस क्षेत्र में सर्टिफिकेट या डिप्लोमा कोर्स कराया जा रहा है। पीजी डिप्लोमा करने के लिए किसी भी विषय से आपको स्नातक होना चाहिए।

इवेंट मैनेजमेंट के ये कोर्स कर सकते हैं
BBA in Event Management (तीन साल की बैचलर डिग्री)
MBA in Event Management (BBA के बाद दो साल की डिग्री )
Diploma in Event Management (एक साल)
Post Graduate Diploma in Event Management (एक साल)
Event Management Certificate course (छह माह)
Exhibition Management Certificate course (छह माह)
Fashion Event Management Certificate course (छह माह)

ये हैं इवेंट मैनेजमेंट कराने वाले प्रमुख संस्थान
एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, नई दिल्ली
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई
इवेंट मैनेजमेंट डिवेलपमेंट इंस्टीट्यूट, मुंबई
नेशनल इंस्टीट्यूट फार मीडिया स्टडीज, अहमदाबाद
इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
कालेज ऑफ इवेंट एंड मैनेजमेंट, पुणे
इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई
नेशनल एकेडमी ऑफ इवेंट मैनेजमेंट एंड डिवेलपमेंट जयपुर
इंटरनेशनल सेंटर फॉर इवेंट एंड मार्केटिंग, नई दिल्ली
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई

अनिल जांगिड़ Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned