फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान के 5 पाठ्यक्रमों को मंजूरी

फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान के 5 पाठ्यक्रमों को मंजूरी

Jamil Ahmed Khan | Updated: 14 May 2019, 09:03:12 AM (IST) कॅरियर कोर्सेज

भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (FTII) के पांच पाठ्यक्रमों को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (All India Council for Technical Education) (AICTE) ने नवगठित व्यावहारिक कला और शिल्प श्रेणी में मंजूरी प्रदान की है।

भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (FTII) के पांच पाठ्यक्रमों को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (All India Council for Technical Education) (AICTE) ने नवगठित व्यावहारिक कला और शिल्प श्रेणी में मंजूरी प्रदान की है। इस मंजूरी से भारत के पुणे स्थित एफटीआईआई देश का पहला और एकमात्र संस्थान बन गया है, जिसे यह मान्यता मिली है। एआईसीटीई ने नवगठित व्यावहारिक कला, शिल्प व डिजाइन श्रेणी के लिए 11 मई को संस्थानों और अनुमोदित पाठ्यक्रमों की सूची जारी की है। इस सूची में एफटीआईआई और इसके पांच एक वर्षीय स्नातकोत्तर सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम शामिल हैं।

एआईसीटीई द्वारा मंजूर किए गए इन पांच पाठ्यक्रमों में चार टेलीविजन (निर्देशन, इलेक्ट्रॉनिक सिनेमेटोग्राफी, वीडियो एडिटिंग और साउंड रिकॉर्डिंग) तथा एक फिल्म (फीचर फिल्म पटकथा लेखन) से संबंधित है। एफटीआईआई परिचालन मंडल के अध्यक्ष विजेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि एफटीआईआई के लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण है। संस्थान को सभी पांच पीजी सर्टिफिकेट पाठ्यक्रमों के लिए एआईसीटीई की मंजूरी मिली है। इससे एफटीआईआई भारत का पहला फिल्म संस्थान बन गया है, जिसे यह मान्यता मिली है।

सिंह ने कहा कि हाल के वर्षों में एफटीआईआई के टेलीविजन पाठ्यक्रम चर्चित रहे हैं क्योंकि इन्होंने कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किए हैं। एआईसीटीई की मंजूरी से टेलीविजन पाठ्यक्रमों के मूल्य में बढ़ोतरी हुई है और यह फिल्म निर्माण के पाठ्यक्रमों के समान ही आकर्षक हो गए हैं। एफटीआईआई के पटकथा लेखक मनोरंजन उद्योग में पहले से ही ख्याति अर्जित कर रहे हैं।

एआईसीटीई की मंजूरी से 2019-20 शैक्षणिक सत्र में प्रवेश लेने वाले छात्रों को लाभ होगा। भारतीय विश्वविद्यालय संघ (एआईयू) ने जनवरी 2017 में एफटीआईआई के छह पीजी डिप्लोमा फिल्म पाठ्यक्रमों को स्नातकोत्तर डिग्री की मान्यता दी है। इसके साथ एफटीआईआई के सभी 11 पाठ्यक्रमों को या तो एआईयू या एआईसीटीई के द्वारा मान्यता प्रदान की गई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned