कम आवेदन के चलते लखनऊ यूनिवर्सिटी के 5 कोर्स होंगे बंद

कम आवेदन के चलते लखनऊ यूनिवर्सिटी के 5 कोर्स होंगे बंद

Jamil Ahmed Khan | Updated: 01 Jul 2019, 12:37:05 PM (IST) कॅरियर कोर्सेज

Lucknow University admission : उत्तर प्रदेश के लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) में इस वर्ष छात्रों के आवेदन कम आने के कारण परास्नातक के पांच कोर्स बंद होने की कगार पर हैं।

lucknow university admission : उत्तर प्रदेश के लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) में इस वर्ष छात्रों के आवेदन कम आने के कारण परास्नातक के पांच कोर्स बंद होने की कगार पर हैं। एमएससी मास कम्युनिकेशन (MSc Mass Communication), एमए फ्रेंच (MA French) और एमए बिजनेस इकोनॉमिक्स (MA Business Economics) में कम आवेदनों के चलते काउंसलिंग ही नहीं कराई गई है जबकि दो कोर्सों में आवेदन तो है लेकिन दाखिला लेने छात्र नहीं पहुंचे। इसकी वजह से इन कोर्सों को इस साल नहीं चलाया जाएगा।

कार्यवाहक कुलसचिव अरुण कुमार यादव ने कहा कि एमए इन डिफेंस स्टडीज, एमएससी इन टोटल क्वालिटी मैनेजमेंट के लिए एक बार कांउसिलिंग करने पर विचार हो सकता है। अगर इन सभी कोर्सों में 60 प्रतिशत सीटें भरेंगी तभी कोर्स संचालित होंगे। अन्यथा इन कोर्सों को भी एमएससी इन मॉस कॉम, एमए फ्रेंच और बिजनेस इकोनॉमिक्स की तरह बंद करना पड़ेगा।

विश्वविद्यालय के प्रवेश समन्वयक प्रो. अनिल मिश्र ने बताया कि सेल्फ फाइनेंस कोर्स चलाने के लिए कुल सीटों के 60 प्रतिशत पर छात्रों के दाखिले होना जरूरी है। इनमें एमए इन डिफेंस स्टडीज में कुल 25 सीटें हैं, जिसमें 19 ने प्रवेश परीक्षा दी थी, लेकिन काउंसलिंग में 15 से भी कम छात्र शामिल हुए। ऐसे में इस कोर्स को नहीं चलाया जा सकता। एमएससी टोटल क्वालिटी मैनेजमेंट में 30 सीटों पर 19 ने प्रवेश परीक्षा दी थी लेकिन उसमें भी काउंसलिंग में 18 से कम छात्र शामिल हुए। इसके अलावा एमएससी मास कम्युनिकेशन, एमए फ्रेंच और एमए बिजनेस इकनॉमिक्स में भी बहुत कम आवेदनों के चलते काउंसलिंग नहीं कराई गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned