लोकसभा चुनाव के पहले UP के दो जिलों में नक्सली देखे जाने के बाद हड़कम्प

लोकसभा चुनाव के पहले UP के दो जिलों में नक्सली देखे जाने के बाद हड़कम्प

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Mar, 17 2019 02:11:24 PM (IST) Chandauli, Chandauli, Uttar Pradesh, India

चंदौली में बिहार बॉर्डर पर नक्सली देखे जाने के बाद अब सोनभद्र के जंगलों में भी दिखी 20 से 25 नक्सलियों की टोली, समूह में महिलाएं भी शामिल थीं।

सोनभद्र/चंदौली. 2019 लोकसभा चुनाव के पहले सरकार और प्रशासन के लिये चुनौती देने वाली खबर है। कुछ दिनों पहले यूपी के चंदौली में बिहार सीमा पर हथियारबंद नक्सलियों के देखे जाने के बाद अब सोनभद्र के जंगलों में भी नक्सलियों की सक्रियता सामने आ रही है। सोनभद्र में भी बिहार बॉर्डर से सटे जंगल में हथियारबंद नक्सली देखे गए। 20 से 25 की तादाद में रहे नक्सलियों में महिलाएं भी शामिल थीं। इसके बाद दोनों जिलों की नक्सल ऑपरेशन औश्र सुरखा में लगी पुलिस व फोर्स सक्रिय हो गयी है। लगातार कॉम्पबिंग की जा रही है।

 

Naxal Movement

 

सोनभद्र में नक्सलियों की आहट के बाद मांची व रायपुर थाने की पुलिस ने संयुक्त रूप से कॉम्बिंग की और जंगल में आने जाने वालों व वहां से सटे इलाकों में पूछताछ भी की। इसके पहले बुधवार को चंदौली में बिहार से सटे जंगल में नक्सली देखे जाने के बादएडिशनल एसपी नक्सल वीरेन्द्र यादव ने जंगल में कॉम्बिंग अभियान चलायी। इलाके में संदिग्ध लोगों के आने के बारे में गहन पूछताछ की गयी। बताया गया कि वन विभाग की ओर से जंगलों में कराए जा रहे अग्रिम मृदा कार्यों की निगरानी कर रहे वाचरों ने मंगलवार को तो जंगल में जाने से ही मना कर दिया था। कहा असलहे से लैस हथियारबंद मुंह बांधे लोगों ने गांव के दो लोगों को बुरी तरह से पीटा था और लकड़ी बीनने गयी महिलाओं के साथ भी समूह की महिलाओं ने मारपीट भी की थी। गतिविधियों की जानकारी पुलिस को देने पर अंजाम बुरा होने की चेतावनी भी दी थी।

 

Naxal Movement

 

सोनभद्र के सोनबरसा और चंदौली के चकर्घट्टा थानाक्षेत्र के गहिला के जंगलेां में नक्सलियों की चहलकदमी की सूचना से इलाके में दहशत है। जानकारी और पूछताछ करने पर कोई कुछ भी बोलने से डर रहा है। नौगढ़ क्षेत्र में नक्सलियों के आते रहने और खाना खाने की सूचना के बाद सीआरपीएफ 148 बटालियन कमांडर राजीव कुमार चौधरी और एडिशनल एसपी नक्सल वीरेन्द्र यादव खुद निकले और कांबिंग का नेतृतव करते हुए पेदल चलकर पहाड़ियों पर सर्च ऑपरेशन चलाया। सूरज ढलने तक कांबिंग कर गयी थी।

 

चंदौली में बन रहा है सीआरपीएफ सेंटर

चंदौली जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र नौगढ़ और बिहार से सटी नक्सली बेल्ट को देखते हुए केन्द्र सरकार चंदौली के चकिया से सटे एक सीआरपीएफ सेंटर बना रही है। इससे यहां सीआरपीएफ जवानों की मुकम्मल मौजूदगी रहेगी। ट्रेनिंग सेंटर भी होने से यहां सीआरपीएफ के जवानों को प्रशिक्षित भी किया जाएगा। माना जा रहा है कि इस सेंटर के खुल जाने के बाद इलाके में नक्सल समस्या से बहुत हद तक निजाम मिल जाएगी।

By Santosh jaiswal

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned