जब खत्म होने लगी बाढ़ की त्रासदी, तब पीड़ितों का हाल जानने पहुंचे भाजपा विधायक सुशील सिंह

जब खत्म होने लगी बाढ़ की त्रासदी, तब पीड़ितों का हाल जानने पहुंचे भाजपा विधायक सुशील सिंह
भाजपा विधायक ने अपने ही इलाके के बाढ़ पीड़ितों से मिलने में एक सप्ताह का समय लगा दिया

Ashish Kumar Shukla | Updated: 23 Sep 2019, 08:57:15 PM (IST) Chandauli, Chandauli, Uttar Pradesh, India

भाजपा विधायक ने अपने ही इलाके के बाढ़ पीड़ितों से मिलने में एक सप्ताह का समय लगा दिया

चंदौली. कुछ दिन पहले स्कूली छात्रों को भाजपा का पट्टा पहनाकर चर्चा में आए बीजेपी विधायक सुशील सिंह की चर्चा एक बार फिर हो रही है। लेकिन इस बार की चर्चा कुछ अलग है। वो इसलिए, क्यूंकि भाजपा विधायक ने अपने ही इलाके के बाढ़ पीड़ितों से मिलने में एक सप्ताह का समय लगा दिया। इस बात को लेकर विधायक के खिलाफ लोग तंज कस रहे हैं।

पत्रिका से बातचीत में समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रवक्ता मनोज सिंह काका ने कहा कि जब इलाके की जनता का घर बार डूब रहा था। गंगा का पानी लोगों को तबाह कर रहा था तब विधायक जी पीएम मोदी के जन्मदिन का जश्न मनाने औऱ स्वच्छता सप्ताह मनाने में व्यस्त थे। लेकिन जब जलस्तर कम हो गया, लोगो का जीवन सामान्य होने लगा तब विधायक जी लोगों का दुख बांटने लगे। खुद समस्याओं को लेकर इस कदर लाचार दिखे जैसे वो सत्ता पक्ष के नही विपक्ष के विधायक हो जिसकी कोई सुनवाई नहीं कर रहा है। रविवार को तो बिना किसी संबन्धित अधिकारी को साथ लिए अकेले पहुंच गये और पीड़ितों को सुविधा दिलाने के लिए फोन पर फोन दागने लगे।

दो दर्जन से अधिक गांवों में मचा रहा हाहाकार

सुशील से सैयदराजा से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते हैं। इनके अपने क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक गांव में पूरी तरह से संपर्क कट चुका है। लोगों एक से दूसरे गांव में जाने के लिए नाव का सहारा ले रहे हैं। शिविरों में दिन रात गुजार रहे हैं। पर इस संकट का शायद विधायक जी को आभास नहीं हुआ उन्होने पहुंचने में एक सप्ताह लग गये।

इन गांवों में गये विधायक

सैयदराजा विधायक सुशील को बाढ़ पीड़ितों की पहली बार याद शनिवार को आई उन्होने प्रह्लादपुर, गुरैनी, महुंजी, जिगना आदि गांवों में जाकर लोगों का हाल जाना। फोन से अधिकारियों से बात की और तत्काल सुविधा मुहैया कराने का निर्देश दिया। इसके बाद अगले दिन रविवार को फिर विधायक जी किसी का हाल जानने नहीं गये। सोमवार को एक बार फिर उन्हे पीड़ितों का हाल जानने का ध्यान आया। एक बार फिर विधायक लोगों से मिलने पहुंच गये।

इस बार अपने प्रतिनिधि को कहा सुविधा मुहैया कराओ

जो विधायक जी एक दिन पहले अधिकारियों से सुविधा मुहैया कराने की बात कह रहे थे वो दूसरे दिन खुद अपने प्रतिनिधि से कहने लगे की लोगों की मदद करें। प्रसहटा, रामपुर दिया, सैफपुर और गद्दोचक गांवों में जाकर अपने प्रतिनिधि अन्नू सिंह से अविलंब शिविर में रोशनी के लिए जनरेटर, जानवरो के लिए चारा और लोगो के लिए भोजन की व्यवस्था करने को आदेश दिया। ऐसे जांबाज नेताओं के भरोसे आखिर किसी समस्या का हल कितना आसान होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned