चंदौली. मरम्मत के अभाव में बड़ी नहर व राजवाहा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। इसका परिणाम होता है कि, पानी का थोड़ा-सा दबाव नहर नहीं झेल पाते और जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। इससे खेतों तक पानी न पहुंच पाता। हालात ऐसे हैं कि पानी नदी, नालों में बह जाता है या फिर खेतों में पानी घुसकर जलमग्न कर देता है। इससे क्षेत्रीय किसानों में सिंचाई विभाग के उदासीन रवैये के प्रति आक्रोश गहराता जा रहा है।



खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned