शिक्षक-रसोइया रार में भूखे रह गए मासूम, नहीं बना एमडीएम

Abhishek Srivastava

Publish: May, 17 2018 09:32:16 PM (IST)

Chandauli, Uttar Pradesh, India
शिक्षक-रसोइया रार में भूखे रह गए मासूम, नहीं बना एमडीएम

रसोइयों ने एमडीएम बनाने से कर दिया इनकार

चंदौली. शासन का स्पष्ट निर्देश है कि प्रत्येक विद्यालय में प्रतिदिन मीड-डे-मिल बने, लेकिन गुरूवार को शिक्षक एवं रसोइयों की रार में मासूम बच्चे भूखे रह गए। वह भी किसी साधारण प्राथमिक विद्यालय पर नहीं, यह वाकया है मॉडल इंग्लिश स्कूल नियामताबाद ब्लॉक के तारनपुर पूर्व माध्यमिक विद्यालय का। जहां एक शिक्षिका और रसोइयों के बीच हुई रार के कारण रसोइयों ने एमडीएम बनाने से इनकार कर दिया। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने खंड विकास अधिकारी से जांच कर रिपोर्ट मांगी है। सरकार की महत्वकांक्षी योजना के तहत बच्चे भूखे पेट अपने घर लौट गए।
जानकारी के अनुसार नियामताबाद ब्लाक के तारनपुर पूर्व माध्यमिक विद्यालय में एक शिक्षिका के व्यवहार से

रसोइया काफी परेशान चल रही थी। गुरूवार को भी कोई आज अचानक रसोइयों ने मिड डे मील बनाने से इंकार कर दिया । मिड डे मील बनाने से इनकार की बात सुनते ही प्रभारी प्रधानाध्यापक के हाथ पांव फूल गए । उन्होंने मामले की जानकारी ली तो पता चला कि स्कूल में ही तैनात शिक्षिका रसोइयों से लगातार बदसलूकी करती आ रही है और बर्दाश्त की इंतहा होते ही रसोइयों ने आज मिड डे मील बनाने से इंकार कर दिया । काफी मान-मनौव्वल के बाद भी रसोईया नहीं मानी और विद्यालय में मिड डे मील नहीं बना । स्कूल में पढ़ने आये बच्चे बिना मिड डे मील भोजन किये ही अपने घर वापस चले गए । मामले की जानकारी होते ही बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सख्त रुख अपनाया और नियामताबाद ब्लाक के खंड शिक्षा अधिकारी को विद्यालय के मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया । BSA ने मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही है । शासन के मंशा के अनुरूप हर हालत में प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय में मिड डे मील बनाना अनिवार्य है । यह लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी ।

 

By: Santosh Jaiswal

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned