सुकमा के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह के जिले में सक्रीय हुए नक्सली, प्रधान से नक्सलियों ने मांगी रंगदारी

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Mar, 19 2018 12:28:12 AM (IST) | Updated: Mar, 19 2018 12:28:13 AM (IST)

Chandauli, Uttar Pradesh, India

नक्सलियों की धमकी

1/3

चंदौली के चकिया में नक्सलियों ने ग्राम प्रधान से मांगी रंगदारी, न देने पर जान से मारने की धमकी।

चंदौली. बीते दिनों सुकमा में हुए नक्सली हमले के बाद चन्दौली जनपद के चन्द्रप्रभा और नौगढ़ के जंगलो में नक्सलियों के होने की सूचना पुख्ता होती चली जा रही है। चकिया कोतवाली क्षेत्र के पहाड़ी से सटे गांव बोदलपुर के ग्राम प्रधान प्रदीप वनवासी से जब नक्सलियों ने बीस हज़ार रुपये की फिरौती मांगी तो जिला प्रशासन सकते में आ गया। रविवार की सुबह पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस, पीएसी और सीआरपीएफ के जवानो ने बोदलपुर के पास के जंगल और पहाड़ियो में सघन काम्बिंग की।

 

चार दिन पूर्व ग्राम प्रधान प्रदीप वनवासी के घर दो नक्सली ग्रामीण बनकर आये और उनसे किसी अग्यात संगठन के नाम पर बीस हज़ार रुपये की फिरौती मांगी। प्रधान के मना करने पर नक्सलियों ने जान से मारने की धमकी दी और चलते बने। प्रधान ने मामले को किसी का मजाक समझकर हल्के में ले लिया। बीते शुक्रवार और शनिवार को चरवाहो ने बरवा नाला के पास 20 से 25 की संख्या में असलहों से लैस महिला और पुरुष नक्सलियों के मौजूद होने की सूचना प्रधान को दी तब प्रधान के होश उड़ गये।उसने तत्काल घटना की जानकारी शिकारगंज पुलिस चौकी को दी। देखते ही देखते जंगल मे नक्सलियों के होने की सूचना जंगल में आग लगने की तरह पुरे क्षेत्र मे फैल गयी।


मामले को गम्भीरता से लेते हुए रविवार की सुबह पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह चकिया, शहाबगंज, इलिया थाने की फोर्स,148 वी बटालियन सीआरपीएफ चन्द्रप्रभा और तीन प्लाटून पीएसी के जवानों के साथ बोदलपुर गाव पहुंच गये। जहां उन्होने ग्राम प्रधान से मुलाकत कर घटना की जानकारी ली। इसके बाद टीम बनाकर चन्द्रप्रभा वन क्षेत्र के सलेवा और मोढ़वा पहाड़ी पर काम्बिग की। वहीं पहाड़ी से सटे जयमोहनी जंगल का चप्पा -चप्पा खंगाला,पर कहीं भी नक्सलियों के मौजूद होने के सुराग नही मिले। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि प्रधान से फिरौती मांगने की घटना की जांच करायी जायेगी।जल्द ही मामले की सच्चाई सबके सांने होगी।
by Santosh Kumar

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned