सड़क हादसे में सिपाही राजकुमार यादव की मौत

सड़क हादसे में सिपाही राजकुमार यादव की मौत
सड़क हादसे में सिपाही राजकुमार यादव की मौत

Jyoti Mini | Updated: 25 Jun 2018, 05:09:34 PM (IST) Chandauli, Uttar Pradesh, India

राजकुमार जौनपुर पुलिस लाईन में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत था।

चन्दौली. बलुआ थाना क्षेत्र के महमदपुर सरौली गांव निवासी राजकुमार यादव की कल गाज़ीपुर जिले में हुई बाईक टक्कर से मौत हो गई। मृतक राजकुमार जौनपुर पुलिस लाईन में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत था।

आपको बता दें, राजकुमार यादव महमदपुर गांव के राजाराम यादव का छोटा पुत्र था। वह गाजीपुर जिले में किसी वैवाहिक कार्यक्रम में शरीक होने गया था। रास्ते में करण्डा ब्लॉक के गोशंदेपुर गांव के पास उसकी डिस्कवर बाईक से जोरदार टक्कर हो गई। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायलावस्था में ही उसे डॉयल 100 के कर्मचारियों द्वारा अस्पताल पहुंचाने की कोशिश की गई किन्तु रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। मृतक की पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है। उसे एक साल का बेटा भी है।

यह भी पढ़ें-

बिहार पुलिस की वसूली

यूपी बिहार बॉर्डर पर बिहार के कैमूर थाने की पुलिस बालू लदे ओवर लोड ट्रकों से वसूली के चक्कर में यूपी के सीमा में दाखिल हो गई और यूपी की सीमा में वसूली करते हुए सैय्यदराजा पुलिस के हत्थे चढ़ा गयी। आपको बता दें कि बिहार के रोहतास जिले से सोन नदी से बालू ट्रको के माध्यम से यूपी में सप्लाई होता है और ट्रक चालाक ज्यादा कमाई के लालच में ट्रकों में ओवरलोड बालू लेकर चलते है। यही से पुलिस के लिए अवैध कमाई का रास्ता खुल जाता है।

बीती रात सैय्यदराजा कोतवाली को सूचना मिली कि यूपी बिहार बॉर्डर पर कर्मनाशा नदी के पुल पर यूपी के सीमा के अंदर आकर बिहार के कैमूर थाने की पुलिस प्राइवेट व्यक्ति के जरिये बिहार से यूपी के तरफ आ रही बालू लदी ओवरलोड ट्रकों से अपनी निगरानी में अवैध वसूली करा रही है। इस सूचना पर सैयदराजा पुलिस मौके पर पहुंची और मामला सही पाए जाने पर कैमूर पुलिस थाने की जिप्सी में बैठे कैमूर थाने के दो दारोगा और उनके निजी चालक को वाहन सहित सैयदराजा कोतवाली ले आई।

पूरे मामले की पूछताछ की गई और कैमूर थाने के निजी चालक के पास से ₹1800 बरामद भी हुए। इस पर रात्रि ड्यूटी पर तैनात सैयदराजा कोतवाली के प्रभारी सुनील चौरसिया ने पूरे मामले से पुलिस अधीक्षक चंदौली को अवगत कराया और एसपी के आदेश पर कड़ी हिदायत देने के साथ लगभग 3 घंटे बाद कैमूर थाने के दोनो दरोगा व उनके निजी चालक को छोड़ दिया। सभी को हिदायत दी गई कि दोबारा यू पी की सीमा में आकर बिना चंदौली पुलिस को सुचना दिए कोई कार्यवाही न करें।

input संतोष जायसवाल

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned