चंदौली. काशी वन्य जीव प्रभाग रामनगर के नौगढ रेंज अन्तर्गत चंद्रकांता किले के समीप घायल नर चीतल हिरण के मिलने की सुचना पर वनकर्मियो ने चीतल को पशु चिकित्सालय नौगढ ले आये। जहां पर चिकित्सक की गैरमौजूदगी मे चपरासी ने ईलाज किया। चीतल को वन रेंज परिसर मे रखा गया है। जिसके स्वस्थ होने के बाद चीतल हिरण को वन क्षेत्र में छोडा़ जाएगा।


दरसल नक्सल प्रभावित नौगढ़ तहसील के नौगढ बांध के फाटक का मरम्मत कार्य होने से कर्मनाशा नदी का पानी एकदम तलहटी में आ गया है। जिसमें प्यास बुझाने के लिए जंगली जानवरों का झुण्ड रात्रि में यहां आता है। जिन पर घात लगाए बैठे शिकारियों की गोली से चीतल के घायल होने की आशंका जताई जा रही है।


वहीं नौगढ़ वन रेंज अधिकारी बिजेंद्र कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि कर्मनाशा नदी में पानी पीने के लिए आए चीतल को देख समीप स्थित बस्ती के कुत्तों ने हमला कर घायल कर दिया है। बुधवार को सुबह जानकारी मिलते ही वनदरोगा विजयी प्रसाद चन्द्रभान, निर्मल व अन्य वनकर्मी के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे। घायल चीतल को नौगढ़ रेंज आफिस ले आये और वहां उसका ईलाज कराकर उसकी देखभाल की जा रही है। चितल के पूरी तरह स्वस्थ होने पर उसे जंगल में छोड़ दिया जाएगा।
by Santosh Kumar

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned