यूपी में अखिलेश यादव का सबसे बड़ा फैन है चंदौली का राजनारायन

 यूपी में अखिलेश यादव का सबसे बड़ा फैन है चंदौली का राजनारायन
Raj Narayan Sharma 2

चंदौली से साइकिल चलाकर अपने सीएम से मिलने पहुंचा है लखनऊ। रास्ते भर लोगों से करता रहा दोबारा सीएम बनाने की अपील।

वाराणसी. अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के दोबारा सीएम होंगे या नहीं इस बारे में मुलायम सिंह यादव चाहे जो भी सोचते हों, पर चंदौली का राजनारायन उनसे इत्तेफाक नहीं रखता। राजनारायन यूपी में अखिलेश यादव का सबसे बड़ा फैन है। सीएम से आज तक मुलाकात नहीं हुई पर उनके बारे में इस तरह बात करता है जैसे, साथ उठना-बैठना हो। उनके बारे में हर बात राजनारायन को जबान जद है। मुलायम सिंह यादव ने जैसे ही ऐलान किया कि 2017 का मुख्यमन्त्री तय नहीं है। सबसे ज्यादा धक्का शायद राजनारायन को ही लगा। यह सुनना ही था कि राजनारायन साइकिल से ही अपने हरदिल अजीज सीएम अखिलेश यादव से मिलकर उन्हें समर्थन देने के लिये करीब 350 किलोमीटर साइकिल चलाकर लखनऊ पहुंच गया।



Raj Narayan Sharma 1
लखनऊ जाते समय रास्ते में लोगों को सीएम की उपलब्धियां गिनाते राजनारायन



राजनारायन मुलायम सिंह यादव को सरपरस्त मानता है पर अखिलेश यादव उसके हीरो हैं। वह कहता है कि ऐसा मुख्यमन्त्री जो हर वर्ग, हर सम्प्रदाय और अमीर व गरीब सभी का खयाल रखता हो, यूपी में दूसरा नहीं हुआ। अखिलेश यादव को अब तक का सबसे कमजोर और मजबूर मुख्यमन्त्री कहते ही वह आपे से बाहर भी हो जाता है पर लड़ता नहीं है। तर्क देता है, योजनाएं गिनाता है और सवाल करता है कि इतनी उपलब्धियां पांच साल से भी कम समय में और इतनी सी उम्र में किस मुख्यमन्त्री ने इतना किया है।



देखें वीडियो



राजनारायन शर्मा चंदौली के बबुरी के रहने वाले हैं। जब से वोट देना शुरू किया तब से समाजवादी पार्टी से जुड़े हैं। उनके मुताबिक समाजवादी बने उन्हें 15 साल हो गए। अखिलेश यादव के मुख्यमन्त्री बनने के बाद उनको अपना हीरो मानने लगे। सैलून चलाने वाले राजनारायन अखिलेश यादव को दोबारा सीएम बना देखना चाहते हैं। सीएम के लिये अखिलेश यादव को फिर मौका मिले इसके लिये वह खुद ही लोगों में सीएम के कार्यों का प्रचार करते हैं।



देखें वीडियो



राजनारायन गुरुवार को बबुरी से रवाना हुए। अपने साथ उन्होंने एक जोड़ी कपड़े, एक तौलिया, मुंह धोने का साबुन और एक चादर ही लिया। पीठ पर बैग टागे साइकिल में समाजवादी पार्टी का अखिलेश के चेहरे वाला झण्डा आगे और पीदे लगा लिया। इसके बाद चल पड़े लखनऊ की ओर। पहला पड़ाव उन्होंने वाराणसी रखा। उन्होंने बताया कि हर जिले में सपा के कार्यालय पर वह रुकेंगे और उसके बाद आगे बढ़ेंगे। रोजाना 50 से 60 किलोमीटर का सफर उन्होंने तय किया। इस दौरान वह लगातार पत्रिका को अपने सफर की जानकारी देते रहे। रविवार को वह लखनऊ पहुंच गए पर सीएम से मुलाकात सोमवार को करेंगे।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned