FIR लिखाने कोतवाली पहुंचा 7 साल का बच्चा, पुलिस हुई सक्रिय

कोतवाल आशुतोष ओझा ने दिया न्याय का आश्वासन

चंदौली. न्याय पाने के लिए सभी लोग जागरुक होने लगे है। कुछ ऐसा ‌ही मामला गुरुवार को सदर कोतवाली में देखने को मिला। एक सात वर्षीय बालक ने दो लोगों पर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी। कोतवाल आशुतोष ओझा ने भी रोते बिलखते बालक को पानी पिलाने के बाद उसकी बातों को इत्मिनान से सुना और उसे न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद बालका को एक पुलिस कर्मी के साथ बाइक पर बैठाकर उसके घर पहुंचाया।
सदर कोतवाली में गुरुवार की सुबह एक बालक कोने में खड़ा होकर रो रहा था।

कोतवाली में तैनात अन्य पुलिस कर्मी बालक को नजर अंदाज करके अपने कार्यो में व्यस्त रहे। लेकिन कोतवाल आशुतोश ओझा की निगाह जैसे ‌ही रोते बिलखते बालक पर पड़ी तो उन्होंने उसे पास बुलाकर उसकी परेशानी के बारे में पूछा। रोते बिलखते हुए बालक ने बताया कि उसका नाम अमित है और सदर कोतवाली के बिछिया कला गांव का निवासी है। गुरुवार की सुबह वह अपने घर के पास खेल रहा था त‌भी साइकिल से आए दो लोगों ने बिना कारण बताए उसे गाली देने के बाद मारने पीटने लगे। जिससे वह काफी भयभीत हो गया।

लेकिन घर जाने के बजाय उसने लोगों को सजा दिलाने के लिए कोतवाली जाना बेहतर समझा। कोतवाल आशुतोष ओझा ने बालक की बातों को सुनने के बाद एक पुलिस कर्मी के द्वारा बालक के बताए बातों को प्रार्थना पत्र पर लिखवाया और उसे कार्रवाई करने का आश्वासन देते हुए उसका हौशला बढ़ाया। कोतवाल ने एक सिपाही के बाइक से बालक को उसके घर बिछिया पहुंचवा दिया। बताया कि बालक ने दो लोगों के खिलाफ तहरीर दिया है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Show More
Ashish Shukla
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned