महिला ने दो बच्चों के साथ गंगा नदी में कूदकर की खुदकुशी

मायके पक्ष ने लोगों ने दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

चंदौली. बलुआ थाना क्षेत्र में एक विवाहिता ने अपने दो बच्चों के साथ रविवार को बलुआ पुल से गंगा में छलांग लगा दी। विवाहिता को नदी में छलांग लगाता देख उसका भाई भी नदी में कूद पड़ा। स्थानीय मल्लाहों की मदद से भाई को बचा लिया गया, वहीं विवाहिता और उसके दो बच्चे नदी में डूब गये।

मिली जानकारी के अनुसार लक्ष्मणगढ़ के रहने वाले दिनेश यादव की शादी 4 वर्ष पूर्व चौबेपुर थाना अंतर्गत कुढ़ाकला निवासी कोलावन के पुत्री पूजा से हुई थी। पति मुम्बई में प्राइवेट नौकरी करता है। शनिवार की रात में पूजा अपने मायके में फोन किया कि मुझे यहां नही रहना और मुझे घर आना है। रविवार को छोटा भाई धीरज यादव उर्फ गोलू अपने बहन को लाने पहुंचा। बहन को वापस लेकर जब वह घर लौट रहा था कि बलुआ पुल के पास महिला ने अपने दो वर्षीय पुत्री आयुषी को गंगा में फेंका फिर आठ माह के बच्चे को लेकर खुद गंगा में कूद गयी। बहन को बचाने के लिए छोटा भाई भी नदी में कूद गया। घाट पर मौजूद यह दृश्य देख मल्लाह मौके पर पहुंच गये और धीरज को बचा लिया, मगर पूजा और उसके दोनों बच्चे नदी में डूब गये।

 

 

 

Women Jumped in Ganga

 

घटना की जानकारी होते ही तत्काल क्षेत्रधिकारी त्रिपुरारी पांडेय व थानाध्यक्ष धीरेंद्र सिंह मल्लाहों को बुलाकर काफी दूर तक महिला और उसके बच्चों की तलाशी की, मगर उनका पता नहीं चला।

Women Jumped in Ganga

 

मायके पक्ष ने लोगों ने दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाया है। घटना की सूचना पर मायके पक्ष से परिजन व ग्रामीण थाने पर पहुंच गये । पिता कोलावन, मां हिरन देवी , भाई नीरज और बहन ममता का रो- रोकर बुरा हाल था। मां का कहना था कि पति दिनेश , भैंसुर किशन , देवर कमलेश दहेज के लिए उसकी बेटी को आए दिन मारते पीटते थे। मायके वालों की शिकायत के बाद पुलिस ने सास रामदेई व भैंसुर किशन को हिरासत में ले लिया है।

 

BY- SANTOSH JAISWAL

 

Show More
Akhilesh Tripathi Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned