Coronavirus से निपटने के लिए पंजाब सरकार ने किया बस व सरकारी कार्यालय समेत सबसे बड़ा बंद, बोर्ड परीक्षाएं स्थगित

बस, ऑटो सेवा, मैरिज होम, होटल, रेस्तरां, बंद किए गए

राज्य सरकार के कार्यालयों में सार्वजनिक कामकाज भी बंद

परिवार के कार्यक्रम में 20 से अधिक लोग जमा नहीं होंगे

कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के हाथ पर मुहर लगाई जाएगी

आयुक्त, उपायुक्त और एसएसपी को मुख्यालय न छोड़ने का निर्देश

By: Bhanu Pratap

Published: 19 Mar 2020, 03:42 PM IST

चंडीगढ़। कोरोनावायरस का फैलाव रोकने के लिए पंजाब सरकार ने अब तक का सबसे बड़ा कदम उठाया है। शुक्रवार आधी रात से 31 मार्च, 2020 तक सभी सार्वजनिक और निजी परिवहन को बंद करने का फैसला किया गया है।

Maha Corona: कस्तूरबा अस्पताल में की गई 2,758 लोगों की जांच, कोरोना वायरस की जांच को रोजाना पहुंच रहे सैकड़ों मरीज...
IMAGE CREDIT: vinod mahune

सरकारी और निजी परिहवन बंद

स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने मंत्रियों के समूह की एक बैठक के बाद कहा कि स्थिति बहुत चिंताजनक है। कोरोना वायरस के फैलने का गंभीर खतरा है। इसलिए सार्वजनिक और निजी बसों के अलावा ऑटो रिक्शा और टेम्पो को सड़कों पर चलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। राज्य सरकार के कार्यालयों में सार्वजनिक कामकाज भी बंद कर दिया गया है, जब तक कि यह बहुत ही आवश्यक न हो।

coronavirus

इनडोर भोजन स्थान बंद

सरकार ने 31 मार्च तक के लिए मैरिज होम, होटल, रेस्तरां और इनडोर भोजन स्थानों को बंद करने का भी फैसला किया है। सरकार ने वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पारिवारिक कार्यों में जुटने की संख्या को 50 से घटाकर 20 कर दी है।

coronavirus

मुख्यालय न छोड़ें अधिकारी

श्री मोहिंद्रा ने कहा कि 10 वीं और 12 वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाएं 31 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं। इसका कार्यक्रम सीबीएसई एग्जाम से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि होम क्वारंटाइन को सख्त बनाया गया है और संदिग्ध मरीजों के हाथ पर मुहर लगाई जाएगी। राज्य सरकार ने सभी आयुक्त, उपायुक्त और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया है कि 31 मार्च तक अपना स्टेशन नहीं छोड़ें।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned