केंद्र सरकार ने बंद की एससी के लिए स्कॉलरशिप स्कीम, पंजाब सरकार करेगी शुरू

  • मुख्यमंत्री ने अगले डेढ़ साल में एक लाख नौजवानों को सरकारी नौकरियाँ देने सम्बन्धी अपनी सरकार के फ़ैसले को भी दोहराया
  • छठे मेगा रोजग़ार मेले के समापन के समय राहुल गांधी द्वारा नौजवानों के रचनात्मक निर्माण के लिए राज्य सरकार की पहलकदमियों की प्रशंसा

By: Bhanu Pratap

Published: 06 Oct 2020, 09:16 PM IST

पटियाला। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनकी सरकार जल्द ही अनुसूचित जाति (एससी) विद्यार्थियों के लिए नयी वज़ीफ़ा स्कीम की शुरुआत करेगी। केंद्र सरकार ने पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम को अचानक ख़त्म करके एससी विद्यार्थियों के साथ बड़ा विश्वासघात किया है। मुख्यमंत्री ने अगले डेढ़ साल में एक लाख नौजवानों को सरकारी नौकरियाँ देने सम्बन्धी अपनी सरकार के फ़ैसले को भी दोहराया, जिसमें 50,000 भर्ती मार्च, 2021 तक और बाकी 50,000 भर्ती इसके कार्यकाल के अंत तक की जाएगी।

उच्च शिक्षा से वंचित न रहे

वह पटियाले से छठे राज्य स्तरीय मेगा रोजग़ार मेले के समापन पर एक वर्चुअल प्रोग्राम को संबोधित कर रहे थे। उनके साथ कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नयी योजना कमज़ोर वर्गों के विद्यार्थियों को अलग-अलग कोर्सों में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्रदान करेगी, जिससे वह भारत सरकार की तरफ से वज़ीफ़ा स्कीम वापस लेने के कारण वंचित रह गए थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यह स्कीम दोबारा शुरू करने हेतु प्रक्रियाधीन है जिससे अनुसूचित जाति से सम्बन्धित कोई भी विद्यार्थी उच्च शिक्षा से वंचित न रहे।

स्वरोजगार में 13.42 लाख नौजवानों को नौकरियों के मौके

मुख्यमंत्री ने रोजग़ार के मौके पैदा करने के लिए राज्य सरकार के प्रमुख प्रोग्राम ‘घर-घर रोजग़ार और कारोबार’ को 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी के चुनावी घोषणापत्र में शामिल करने के लिए मार्गदर्शन करने के लिए उनका (श्री राहुल गांधी) धन्यवाद भी किया। कैप्टन अमरिन्दर ने संतोष जताया की उनकी सरकार ने स्कीम के अंतर्गत पिछले 3.5 सालों में रोजग़ार और स्व-रोजग़ार सेवाओं के द्वारा 13.42 लाख नौजवानों को नौकरियों के मौके प्रदान किये हैं। उन्होंने बताया कि इनमें से 50,000 सरकारी और 4.04 लाख प्राइवेट नौकरियाँ नौजवानों को दी गई हैं, इसके अलावा लगभग 8.80 लाख नौजवानों को स्व -रोजग़ार की सुविधाएं दी गई हैं। मुख्यमंत्री ने राहुल गांधी को बताया कि माइक्रोसॉफ्ट जैसे प्रसिद्ध बहु-राष्ट्रीय कॉर्पोरेट और ट्राइडेंट, गुरू गोबिन्द सिंह रिफाईनरी (एच.पी.सी.एल.-मित्तल एनर्जी लिमिटेड), बठिंडा समेत भारत की अन्य प्राइवेट कंपनी ने पंजाब के नौजवान को रोजग़ार मुहैया करवाने में अहम भूमिका निभाई है।

rahul gandhi

कृषि को तहस-नहस करने की कोशिशें

राहुल गांधी ने कहा कि मुख्य रूप में कृषि अर्थ व्यवस्था होने के बावजूद पंजाब एक बार छोटे और मध्यम उद्योग के क्षेत्र में देश का नेतृत्व कर चुका है। उन्होंने कहा कि राज्य की पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने उसी तरह कृषि को तबाह किया था, जैसे वह अब कृषि को तहस-नहस करने की कोशिशें कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने पंजाब में छोटी और सूक्ष्म औद्योगिक इकाइयों को मदद करना जारी रखा है जोकि रोजग़ार पैदा करने सम्बन्धी बड़ी संभावना रखते हैं। उन्होंने बताया कि माइक्रोसॉफ्ट जैसी विश्व प्रसिद्ध कंपनी ने भी एक छोटी सी कंपनी के तौर पर अपना सफऱ शुरू किया था और पंजाब की ये छोटी इकाइयाँ भी उन्नतीशील और मेहनती नौजवानों के नेतृत्व में बड़ी कंपनियाँ बनेंगी।

कृषि के सर्वपक्षीय विकास को यकीनी बनाया जाए

राहुल गांधी ने देश में संतुलित आर्थिक विकास को यकीनी बनाने के लिए कृषि और उद्योग में पूर्ण तालमेल पैदा करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। उन्होंने कहा कि कृषि के घातक कानूनों को लाने की बजाय केंद्र को कृषि के सर्वपक्षीय विकास को यकीनी बनाने के लिए बढिय़ा बुनियादी ढांचा और प्रणाली तैयार करके किसानों की सहायता करनी चाहिए थी।
इन कंपनियों का सहयोग

इस दौरान भारत में माइक्रोसॉफ्ट की कंपनी की प्रमुख सोनीया सहगल, ट्राइडेंट ग्रुप की चेयरमैन-कम-मैनेजिंग डायरैक्टर रजिन्दर गुप्ता और एच.पी.सी.एल-मित्तल एनर्जी लिमिटेड (एच.एम.ई.एल) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रभदास ने बेरोजग़ार नौजवानों को जीवन-निर्वाह मुहैया करवाने के मौकों में पंजाब सरकार को दिए अपने सहयोग के तजुर्बे साझे किये। प्रभदास ने कहा कि एच.एम.ई.एल अपने वित्तीय सहायता प्राप्त प्रोग्राम के द्वारा 50,000 नौजवानों को केंद्र और राज्य सरकार की नौकरियाँ हासिल करने के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण दे रहा है। बरनाला में 2500 लड़कियों के लिए विशेष आवासीय प्रशिक्षण प्रोग्राम की शुरुआत करने के लिए ट्राइडेंट ग्रुप के चेयरमैन-कम-मैनेजिंग डायरेक्टर रजिन्दर गुप्ता द्वारा पहलकदमी की प्रशंसा करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि यह प्रयास लड़कियों को सुरक्षित रोजग़ार के मौके प्रदान करके उनके सशक्तिकरण में सहायक होगा।

नौकरी प्राप्त करने के अनुभव बताए

इस मौके पर अमनदीप कौर और साहिल शर्मा ने मुख्यमंत्री के साथ बातचीत की और 24-30 सितम्बर तक राज्यभर में आयोजित छठे राज्य स्तरीय मेगा रोजग़ार मेले के द्वारा नौकरी प्राप्त करने के अपने तजुर्बे साझे किये। फ़ैशन टेक्रोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएट अमनदीप कौर को पातड़ां के एक प्रमुख प्राइवेट स्कूल में आर्ट एंड क्राफ्ट अध्यापक नियुक्त किया गया है और मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टैक साहिल शर्मा ने टेक महिन्द्रा में नौकरी प्राप्त की है।

रोजगार मेला में 1.43 नौकरियों की पेशकश

इससे पहले अपने स्वागती भाषण में तकनीकी शिक्षा एवं रोजग़ार उत्पत्ति मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने कहा कि छठे राज्य स्तरीय मेगा रोजग़ार मेले के दौरान प्राइवेट क्षेत्र की 1.43 लाख नौकरियों की पेशकश की गई थी और नौकरी की खोज करने वाले 93,593 नौजवानों को नौकरियाँ दी गई हैं। लगभग रोजग़ार के इच्छुक 9.5 लाख नौजवानों को ‘घर-घर रोजग़ार’ पोर्टल के द्वारा रजिस्टर्ड किया गया। श्री चन्नी ने आगे कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से 15 अक्तूबर, 2020 से 15 दिसंबर, 2020 तक मेगा रोज़ागर लोन मेले करवाए जाएंगे जिससे नौजवानों को कजऱ्े की सुविधा मुहैया करवा कर स्व-रोजग़ार के उद्यमों को बढ़ावा दिया जा सके। इस मौके पर ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत, कैबिनेट मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा, राणा गुरमीत सिंह सोढी और विजय इंदर सिंगला, पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान सुनील जाखड़ और पटियाला से सासद परनीत कौर उपस्थित थे।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned