Coronavirus पंजाब का ये शहर कर्फ्यू उल्लंघन के लिए हुआ कुख्यात, पुलिस हैरान

कोरोनावायरस के संदिग्ध रोगी एकांतवास का कर रहे उल्लंघन

फरीदकोट, फाजिल्का, लुधियाना और पटियाला जिले में अच्छा काम

सजा देने की आड़ में मारपीट की इजाजत नहीं- कैप्टन अमरिन्दर सिंह

By: Bhanu Pratap

Published: 27 Mar 2020, 01:42 PM IST

चंडीगढ़। कोरोनावायरस को कुप्रभाव कम करने के लिए पूरे पंजाब में कर्फ्यू लागू है। पुलिस मुस्तैद है, इसके बाद भी लोग हैं कि मान नहीं रहे हैं। हर जिले में कर्फ्यू उल्लंघन के मामले हो रहे हैं। पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर रही है। गिरफ्तारी की जा रही है। फिर भी लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। एक शहर में लगातार बढ़ रहे कर्फ्यू उल्लंघन के मामलों को लेकर पुलिस हैरान है।

संगरूर और बठिंडा में एकांतवास का उल्लंघन

पंजाब के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने कर्फ्यू और घरेलू एकांतवास का उल्लंघन के दोष के तहत 170 एफ.आई.आर. दर्ज की। 262 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। कुल 170 एफ.आई.आर में से चार घरेलू एकांतवास के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने की हैं, जिनमें से तीन केस संगरूर और एक केस बठिंडा में दर्ज है। विभिन्न रैंक पर तैनात 40,153 पुलिस कर्मचारी पंजाब के विभिन्न जिलों और पुलिस कमिशनरेट में फील्ड में तैनात हैं, जो ज़रूरी सप्लाई की संभाल रहे हैं। कर्फ्यू लागू करने के लिए काम कर रहे हैं। इनमें 1937 स्वयंसेवक भी शामिल हैं।

Curfew in Punjab

कहां कितने केस दर्ज

कर्प्यू का उल्लंघन के सबसे अधिक 38 केस कपूरथला में दर्ज हुए हैं। तरन तारन में 14, जालंधर कमिशनरेट में 14, अमृतसर कमिशनरेट, जालंधर ग्रामीण और फतेहगढ़ साहिब में 13 -13, होशियारपुर में 12, रोपड़ में 11, बरनाला में 9, संगरूर में 7, लुधियाना कमिशनरेट में 6, मानसा, बठिंडा और श्री मुक्तसर साहिब में 3-3, फिऱोज़पुर, खन्ना, मोहाली, बटाला और अमृतसर में 2-2 जबकि मोगा, नवांशहर, पठानकोट और गुरदासपुर में एक-एक केस दर्ज किया है। अभी तक फरीदकोट, फाजिल्का, लुधियाना और पटियाला जिले में ऐसा कोई केस दर्ज नहीं हैं।

कहां कितने गिरफ्तार

डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बताया कि कर्फ्यू उल्लंघन में सबसे अधिक कपूरथला में 60 व्यक्ति गिरफ्तार किये गए हैं। रोपड़ में 30, फतेहगढ़ साहिब में 22, बरनाला में 22, जालंधर ग्रामीण में 17, तरन तारन में 16, जालंधर कमिशनरेट में 14, अमृतसर कमिशनरेट और होशियारपुर में 12 -12, संगरूर में 11, गुरदासपुर, मोहाली और श्री मुक्तसर साहिब में 7-7, लुधियाना कमिशनरेट में 6, मानसा में 5, बठिंडा में 4 और खन्ना, बटाला और फिऱोज़पुर में 2-2 और नवांशहर में एक को गिरफ्तार किया गया।

Curfew in Punjab

मानवता दिखाए पुलिसः कैप्टन अमरिन्दर सिंह

इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पंजाब पुलिस को कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के प्रति और ज्यादा मानवीय और संवेदनशील रहने का आदेस पुलिस को दिया है। उन्हें पुलिस ज्यादती की शिकायतें मिली हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पुलिस मुलाजि़मों को इस मुश्किल स्थिति में अधिक से अधिक संयम बरतने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू के दौरान ज़रूरी वस्तुएँ लेने के लिए बाहर निकलने वाले व्यक्तियों के मामलो में और ज्य़ादा हमदर्दी भरा व्यवहार अपनाया जाये। कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों को सज़ा देने की आड़ में शारीरिक मारपीट की इजाज़त नहीं दी जा सकती। उन्होंने डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता को पुलिस मुलाजिमों को संवेदनशील होने के लिए हर संभव कदम उठाने के आदेश दिए। इसके साथ ही कानून को अपने हाथों में लेने वालों को लताडऩे के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने लोगों को घरों में रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि ज़रूरी वस्तुएँ और सेवाओं को घरों तक पहुँचाने के लिए यत्न किये जा रहे हैं। समूचा पुलिस और सिविल प्रशासन दिन-रात काम करने में जुटा हुआ है। ताकि किसी तरह की असुविधा या कठिनाई का सामना न करना पड़े।

Curfew in Punjab

मारपीट बर्दाश्त नहीं- डीजीपी

डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता का कहना है कि बड़े स्तर पर पुलिस मुलाजिमों की तरफ से जि़म्मेदारी और सहजता दिखाई गई है। कुछ मामलों में मुलाजिमों की तरफ से रोके तोडऩे वालों के विरुद्ध ज़बरदस्ती की गई है। श्री गुप्ता ने कहा कि उन्होंने पुलिस कमिश्नर और जि़ला पुलिस मुखियों को हुक्म दिए हैं कि जमीनी स्तर के पुलिस अफसरों को स्पष्ट कर दिया जाये कि शारीरिक मारपीट को बिल्कुल बरदाश्त नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने चेतावनी दी कि कोई भी समाज ऐसे दृश्यों को सहन नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि जहाँ भी ज़रूरत हो, उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही के अंतर्गत मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

coronavirus
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned