गुरूनानक की 550 वीं जयंती समारोहों के मुद्ये पर केन्द्र और पंजाब सरकार के बीच पेंच

गुरूनानक की 550 वीं जयंती समारोहों के मुद्ये पर केन्द्र और पंजाब सरकार के बीच पेंच

Prateek Saini | Publish: Nov, 10 2018 04:44:34 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 04:44:35 PM (IST) Chandigarh, Punjab, India

केन्द्र सरकार ने साफ किया है कि जयंती समारोहों का आयोजन शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी करेगी...

(चंडीगढ): सिख धर्म के संस्थापक गुरूनानक देव की 550 वीं जयंती के आयोजन पर केन्द्र और पंजाब की कांग्रेस सरकार के बीच पेंच आ गया है। जहां पंजाब सरकार जयंती समारोहों के आयोजन का अपना एजेंडा बनाए हुए थी और केन्द्र से खर्च की मांग कर रही थी, वहीं केन्द्र सरकार ने साफ किया है कि जयंती समारोहों का आयोजन शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी करेगी।

 

केन्द्र में भाजपा के नेतृत्व वाला एनडीए सत्तारूढ है। पंजाब का विपक्षी दल शिरोमणि अकाली दल एनडीए में शामिल है। शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी पर एनडीए के सहयोगी अकाली दल का प्रभाव है। इसके चलते केन्द्र सरकार ने गुरूनानक जयंती समारोहों के आयोजन के लिए कांग्रेस की पंजाब सरकार के बजाय अपने सहयोगी दल के प्रभाव वाली शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी को तरजीह दी है। पंजाब सरकार को दरकिनार करते हुए केन्द्र सरकार ने गुरूनानक जयंती समारोहों के आयोजन के लिए शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी को समन्वयक संस्था के बतौर चुना है। संस्कृति मंत्रालय इन समारोहों के लिए केन्द्रीय मंत्रालयों और राज्य सरकारों के बीच तालमेल का काम करेगा। उच्चाधिकार प्राप्त क्रियान्वयन कमेटी की बैठक के बाद केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब में शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी को समारोह आयोजन के लिए नामित किया।


उधर पंजाब के संस्कृति मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि गुरूनानक जयंती समारोह और जलियांवाला बाग नरसंहार के सौ साल पूरे होने पर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों को धन उपलब्ध करवाने के लिए पंजाब सरकार ने केन्द्र को प्रस्ताव सौप दिए थे। राजनाथ सिंह ने सिद्धू को इस मुद्ये पर कहा कि वे अपने प्रस्ताव शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबन्धक कमेटी व जलियांवाला बाग ट्रस्ट को सौंपें।

Ad Block is Banned