यहां प्लाज्मा मिलेगा फ्री, दो और बैंक खुलेंगे

पंजाब ने दो और प्लाज्मा बैंकों के लिए उपकरणों की खरीद हेतु टैंडर प्रक्रिया शुरू की

By: Bhanu Pratap

Updated: 30 Jul 2020, 07:36 PM IST

चंडीगढ़। कोविड के फैलाव और मौतों की दर बढ़ने के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार की तरफ से सभी जरूरतमंदों को प्लाज्मा मुफ़्त मुहैया करवाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने तंदुरुस्त हुए कोविड के मरीज़ों को कोविड के मरीज़ों की जानें बचाने के लिए आगे आने की अपील की।

प्लाज्मा की खरीद-बिक्री नहीं

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को यह यकीनी बनाने के सख्त आदेश दिए कि कोविड के मरीज़ों से प्लाज्मा थरैपी की कोई कीमत न वसूली जाये। यह भी कि किसी को भी प्लाज्मा खरीदने या बेचने का अधिकार नहीं है क्योंकि प्लाज्मा कोरोनावायरस के किसी भी इलाज की अनुपस्थिति में कई मामलों में जानें बचाने में सहायक साबित हुआ है।

10 हजार मरीज स्वस्थ हुए

उन्होंने डिप्टी कमिशनरों और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कोविड के प्रबंधों की समीक्षा के लिए वीडियो काँफ्रेंसिंग के द्वारा हुई एक मीटिंग के मौके पर ऐसे मरीज़ों को अपना प्लाज्मा दान करने के लिए उत्साहित करने के लिए भी कहा। उन्होंने आगे कहा कि मौजूदा समय के दौरान राज्य में कोविड के तकरीबन 10,000 मरीज़ ठीक हो चुके हैं और उनकी सरकार की प्राथमिकता राज्य में हरेक की जि़ंदगी को बचाना है।

यहां खुलेंगे दो और प्लाज्मा बैंक

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को कहा कि अमृतसर और फरीदकोट में दो प्लाज्मा बैंक स्थापित करने सम्बन्धी तेज़ी से कार्यवाही की जाये जिससे पटियाला में पहले ही चल रहे प्लाज्मा बैंक को सहारा मिल सके। कैबिनेट मंत्री ओ.पी. सोनी ने इस मौके पर मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि नये बैंकों सम्बन्धी मंज़ूरी हासिल हो चुकी है और उपकरणों की खरीद के लिए टेंडर जारी किये जा रहे हैं।

प्रस्ताव भेजें

राज्य में बढ़ते जा रहे मामलों पर चिंता ज़ाहिर करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू को कहा कि समूह जि़ला अस्पतालों में संक्रमण के मामूली मामलों वाले मरीज़ों की देखभाल और इलाज के लिए 10 बैड स्थापित करने हेतु उचित प्रस्ताव तैयार करके भेजा जाये। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि ऐसी सुविधा पहले राज्य के सभी सिविल अस्पतालों के लिए प्रस्तावित की थी।

अफसर रात्रि में भी तैनाती स्थलों पर रहें

मुख्य सचिव विनी महाजन ने सुझाव दिया कि सभी फील्ड अफसरों, जिनमें डिप्टी कमिशनर और एस.एस.पीज़ शामिल हों, को अगले दो महीनों के लिए रात के समय भी अपनी तैनाती वाले स्थानों पर ही रहना चाहिए क्योंकि पंजाब के लिए यह नाजुक समय है जिसके दौरान मामलों के बढऩे की संभावना है। उन्होंने आगे कहा कि यह उम्मीद की जाती है कि यह अफ़सर हालात पर हमेशा काबू पाने में सफल होंगे।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned