AAP के अभियान से घबराई पंजाब सरकार, मुख्यमंत्री ने खुद कमान सँभाली


Punjab government panicked by AAP campaign Oximeter Captain appeal to people

By: Bhanu Pratap

Published: 07 Sep 2020, 12:35 PM IST

चंडीगढ़। कोविड-19 के बढ़ रहे मामलों के बाद पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस के बीच ठन गई है। आप ने गलियों में जाकर लोगों का ऑक्सीजन स्तर माप रही है। इसके लिए ऑक्सीमीटर भेजे गए हैं। ऐसे वीडियो वायरल किए गए हैं, जिनसे जनता में सरकार की छवि खराब हो रही है। कुल मिलाकर आम आदमी पार्टी के अभियान से पंजाब सरकार घबरा गई है। यही कारण है कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने स्वयं कमान सँभाल ली है। उन्होंने सभी मंत्रियों को निर्देश दिया है कि आम आदमी पार्टी द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम के प्रति आम जनता को सचेत करें। आप के अध्यक्ष और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को तो सीधे तौर पर चेतावनी दे ही चुके हैं।

यह भी पढ़ें

एक दिन में Corona के 1946 केस, अब तक 1862 मौतें, पढ़िए अपने जिले का हाल

ऑक्सीमीटर नहीं बताते कोरोना है या नहीं

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा है- द्वारा राज्य के लोगों को दिए जा रहे ऑक्सीमीटर टेस्टिंग का कोई विकल्प नहीं हैं। ऑक्सीमीटर यह नहीं बताएंगे कि आपको कोरोना है या नहीं, यह सिर्फ आपके शरीर में ऑक्सीजन की कमी-अधिकता के स्तर संबंधी बताएंगे और ऑक्सीजन की कमी जरूरी नहीं कि कोरोनावायरस का संकेत हो। कोविड मरीजों के अंग निकालने संबंधी बातें पूरी तरह बेबुनियाद हैं। ऐसे झूठे प्रचार का शिकार न हों, जो सिर्फ आपको गुमराह करने के लिए किया जा रहा है। कोविड पीडि़तों के मृत शरीर को छूने और संस्कार करते समय लोगों द्वारा पी.पी.ई किटें पहनने की वजह केवल कोविड के संक्रमण से बचना है। पूर्व राष्ट्रपति (प्रणब मुखर्जी) का भी इसी तरीके से अंतिम संस्कार किया गया क्योंकि वह भी कोरोना से पीडि़त थे।

यह भी पढ़ें

3803 पुलिस अधिकारी कोरोना संक्रमित, 20 की गई जान, सरकार ने शुरू किया ये अभियान

सरकार 10 हजार बांट चुकी है, 50 हजार खरीदे जा रहे

मुख्यमंत्री कहते हैं- सरकार द्वारा पहले ही 10,000 ऑक्सीमीटर बाँटे जा चुके हैं और अन्य 50,000 खरीदने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इन मशीनों का प्रयोग जिंदगी नहीं बचा सकता। ऑक्सीजन का स्तर घटने पर ही अस्पताल पहुँचना भी शायद ज्यादा देरी होगी। बदकिस्मती से आम आदमी पार्टी राज्य सरकार को समर्थन का भरोसा देने के बाद भी संकट का सियासीकरण करने में व्यस्त है। सभी पार्टियों को कोविड को साझा दुश्मन मानते हुए राज्य सरकार का साथ देना चाहिए।‘यदि पाकिस्तान या चीन से जंग होती तो क्या वह हमारा साथ न देते।

यह भी पढ़ें

Lady Don के साथ चार किलो सोना लूटने जा रहे थे बदमाश कि पकड़े गए

दिल्ली में पंजाब के मुकाबले तीन गुना मौतें

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा- 1.90 करोड़ की आबादी वाली दिल्ली में 1.82 लाख केस हैं जबकि 2.80 करोड़ आबादी वाले पंजाब में 60,000 मामले हैं। उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली में पंजाब के मुकाबले तीन गुना अधिक मौतें हुई हैं। ‘‘मैं वाहेगुरू के समक्ष अरदास करता हूँ कि दिल्ली समेत सभी राज्यों में कोविड के खिलाफ जंग में फतह हासिल हो और हम लोगों की जान बचाने में सफल हों।’’ पंजाब के लोगों को विश्वास दिलाते हैं कि चरम जिसकी सितम्बर-अक्तूबर में आने की संभावना है, का मुकाबला करने के लिए पलंग, दवाओं, वेंटीलेटर और डॉक्टरों की कोई कमी नहीं आने दी जायेगी।

AAP Arvind Kejriwal
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned