1865 स्नातकों को मिली डिग्री

2030 तक भारत के अधिकांश वाहन इलेक्ट्रिक पावर से चलेंगे

By: Santosh Tiwari

Published: 25 Jan 2021, 10:44 PM IST

चेन्नई.
बीएस अब्दुर रहमान क्रेस्सेंट इंस्टीट्यूट आफ साइंस एंड टेक्नालाजी का दसवां दीक्षांत समारोह सोमवार को आयोजित किया गया। आईआईटी मद्रास के प्रो.डा.अशोक झुनझुनवाला ने स्नातकों को डिग्री प्रदान किए। आईआईटी मद्रास के प्रो.डा.अशोक झुनझुनवाला ने कहा कि 2030 तक भारत के अधिकांश वाहन इलेक्ट्रिक पावर से चलेंगे। आज देश की जीडीपी का 7.1 प्रतिशत आटो सेक्टर से आता है। परिवहन ईंधन के प्रोसेसिंग एवं वितरण का अन्य 5 प्रतिशत योगदान है। 12.1 प्रतिशत जीडीपी एवं लाखों की नौकरी इससे जुड़ी हुई है। यह एक ट्रांजिशन है, आप युवा इसकी शुरुआत से गुजर रहे हैं।
इस मौके पर वाइस चांसलर डा.ए.पीर मोहम्मद, प्रो.चांसलर अब्दुल कादिर ए.रहमान बुहारी, प्रबंधन बोर्ड के सदस्य अहमद ए.आर.बुहारी उपस्थित थे। इस मौके पर 1865 स्नातकों को डिग्री दी गई। 1794 स्टुडेंट ने दीक्षांत समारोह में आनलाइन भाग लिया। टाप रैंक वाले 40 स्टुडेंट को गोल्ड मेडल दिया गया। इस मौके पर चांसलर आरिफ बुहारी रहमान, रजिस्ट्रार डा.ए.आजाद भी उपस्थित थे। 12.1 प्रतिशत जीडीपी एवं लाखों की नौकरी इससे जुड़ी हुई है।

Santosh Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned