तमिलनाडु के तीन मछुआरों पर श्रीलंकाई मछुआरों ने किया हमला, सामान लूटकर भागे

नागपट्टिनम के जिला कलक्टर अरुण थंबुराज ने अस्पताल का दौरा किया और मछुआरों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 25 Sep 2021, 04:21 PM IST

नागपट्टिनम.

श्रीलंका के मछुआरों के एक समूह ने शनिवार तडक़े तमिलनाडु के कोडियाकराई तट पर तीन मछुआरों के साथ मारपीट उन्हें घायल कर दिया और उनके सारे सामान लूटकर फरार हो गए। घटना के बाद पुलिस ने गंभीर रूप से घायल तीन मच्छुआरों को बचाकर नागपट्टिनम के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। नागपट्टिनम के जिला कलक्टर अरुण थंबुराज ने अस्पताल का दौरा किया और मछुआरों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना।

तटीय सुरक्षा समूह (सीएसजी) पुलिस के मुताबिक, वेदारण्यम के पास अरुकोट्टुथुराई के मछुआरे उस समय हमले की चपेट में आ गए जब वे कोडियाकराई तट से दक्षिण पूर्व स्थित समुद्र में मछली पकड़ रहे थे। उन्होंने कहा कि श्रीलंकाई मछुआरे तीन नावों में आए और तमिल मछुआरों पर लोहे की छड़ों से हमला कर दिया। हमलावरों ने मछली पकडऩे वाली जाल, मोबाइल, जीपीएस उपकरण समेत कई अन्य सामान लेकर मौके से फरार हो गए।

 

सीएसजी पुलिस ने जांच शुरू की

मत्स्य विभाग के अधिकारी और सीएसजी पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस बीच अरुकोट्टुथुराई में मछुआरा संघ ने हमले की निंदा की है। हमले के विरोध में मछुआरा संघ ने हड़ताल शुरू कर दी है। संघ के सदस्यों ने श्रीलंकाई मछुआरों पर कार्रवाई नहीं होने देने तक आमरण अनशन पर रहने की चेतावनी दी है।

मछलियां पकडऩे से जाल क्षतिग्रस्त

दो दिन पहले ही तमिलनाडु के रामेश्वरम में श्रीलंकाई नौसेना कर्मियों के हमले में यहां भारतीय मछुआरों की नौकाएं और मछलियां पकडऩे के उनके जाल क्षतिग्रस्त हो गए थे। तमिलनाडु मत्स्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि घटना बुधवार देर रात कच्चातीवु के निकट हुई, जब करीब 10 गश्ती नौकाओं में आए श्रीलंकाई नौसेना के कर्मियों ने शीशे की बोतलें और पत्थर फेंके।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned