शिविर में 390 की नेत्र जांच

चेन्नई. ट्रिप्लीकेन स्थित सिंघवी चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में हाल ही तिरुवल्लूर जिले में मींजुर स्थित सेंट मैरिस मेट्रिक स्कूल में निशुल्क नेत्र एवं दंत जांच शिविर लगाया गया।

By: Ashok Singh Rajpurohit

Published: 24 Jul 2018, 06:22 PM IST

चेन्नई. ट्रिप्लीकेन स्थित सिंघवी चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में हाल ही तिरुवल्लूर जिले में मींजुर स्थित सेंट मैरिस मेट्रिक स्कूल में निशुल्क नेत्र एवं दंत जांच शिविर लगाया गया। शिविर में चिकित्सकों ने ३९० लोगों की आंखों की जांच की। इनमें से 23 जनों की आंखों में मोतियाबिंद पाया गया जिनकी सर्जरी की गई तथा 190 की आंखें जांच के दौरान कमजोर पाई गई जिनको चश्मे बनाकर दिए गए। साथ ही 282 लोगों के दांतों की जांच की गई। जिन लोगों के दांतों में गड़बड़ी पाई गई उनको निशुल्क दवाइयां दी गई। इसके अलावा 52 लोगों की फिजियोथैरेपी जांच की गई।

 

जैन फेडरेशन के साथ लगाया नेत्र जांच शिविर
चेन्नई. महावीर इंटरनेशनल चेन्नई मेट्रो द्वारा जैन फेडरेशन आर चेन्नई वाकर्स क्लब के सहयोग से हाल ही निशुल्क नेत्र जांच शिविर लगाया गया। रामापुरम स्थित महावीर कॉम्पलेक्स में लगाए गए इस शिविर मे डा. अग्रवाल आई अस्पताल की चिकित्सकीय टीम ने ३० लोगों की आंखों की जांच की जिनमें ३ जनों की आंखों में मोतियाबिंद पाया गया जिनकी सर्जरी करवाई जाएगी। साथ ही १२ जनों को आंखें जांच में कमजोर पाई जाने के कारण चश्मे बनाकर दिए जाएंगे। शिविर में सृष्टि गुलेच्छा, देशना जैन, सुशीला व प्रकाश गुलेच्छा आदि का सहयोग रहा।

 

 

 

 

ट्रिप्लीकेन स्थित सिंघवी चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में हाल ही तिरुवल्लूर जिले में मींजुर स्थित सेंट मैरिस मेट्रिक स्कूल में निशुल्क नेत्र एवं दंत जांच शिविर लगाया गया। शिविर में चिकित्सकों ने ३९० लोगों की आंखों की जांच की। इनमें से 23 जनों की आंखों में मोतियाबिंद पाया गया जिनकी सर्जरी की गई तथा 190 की आंखें जांच के दौरान कमजोर पाई गई जिनको चश्मे बनाकर दिए गए। साथ ही 282 लोगों के दांतों की जांच की गई। जिन लोगों के दांतों में गड़बड़ी पाई गई उनको निशुल्क दवाइयां दी गई। इसके अलावा 52 लोगों की फिजियोथैरेपी जांच की गई। ट्रिप्लीकेन स्थित सिंघवी चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में हाल ही तिरुवल्लूर जिले में मींजुर स्थित सेंट मैरिस मेट्रिक स्कूल में निशुल्क नेत्र एवं दंत जांच शिविर लगाया गया। शिविर में चिकित्सकों ने ३९० लोगों की आंखों की जांच की। इनमें से 23 जनों की आंखों में मोतियाबिंद पाया गया जिनकी सर्जरी की गई तथा 190 की आंखें जांच के दौरान कमजोर पाई गई जिनको चश्मे बनाकर दिए गए। साथ ही 282 लोगों के दांतों की जांच की गई। जिन लोगों के दांतों में गड़बड़ी पाई गई उनको निशुल्क दवाइयां दी गई। इसके अलावा 52 लोगों की फिजियोथैरेपी जांच की गई।

Show More
Ashok Singh Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned