पालामेडु के जल्लीकट्टू में 700 बैल हुए शामिल

Over 35 men have been injured in the Jallikattu in Avaniyapuram

खेल के दौरान प्रतिभागी, दर्शक और बैल मालिक समेत 35 से अधिक लोग घायल हो गए।

मदुरै. जिले के पालामेडु में गुरुवार को आयोजित जल्लीकट्टू प्रतियोगिता में 700 से अधिक बैलों ने हिस्सा लिया। पोंगल के उपलक्ष्य में ग्रामीण क्षेत्रों में जल्लीकट्टू का आयोजन किया गया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के लिए 500 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया। इससे पहले बुधवार को जिले के अवनीपुरम में जल्लीकट्टू खेल में 700 बैलों के साथ 750 खिलाड़ी शामिल हुए। खेल के दौरान प्रतिभागी, दर्शक और बैल मालिक समेत 35 से अधिक लोग घायल हो गए।

 

-नशे में धूत पाए जाने पर

अधिकारियों ने बताया कि नशे में धूत पाए जाने पर कुछ खिलाडिय़ों को खेल में शामिल नहीं होने दिया गया। कार्यक्रम में कोई भी बैल घायल नहीं हुआ। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के अलावा चिकित्सा सुविधाएं भी की गई थी। बेहतर प्रदर्शन के लिए तीन खिलाडिय़ों को प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा अन्य प्रतिभागियों को भी चांदी के सिक्के समेत विभिन्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। जिले के अलंगनल्लूर में शुक्रवार को खेल का आयोजन किया जाएगा।

 

-२१ साल से कम उम्र के खिलाडिय़ों को

जिला कलक्टर ने २१ साल से कम उम्र के खिलाडिय़ों को खेल में शामिल नहीं होने का निर्देश दिया है। उल्लेखनीय है कि मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै खंडपीठ ने सोमवार को जल्लीकट्टू के आयोजन और निगरानी के लिए सेवानिवृत्त न्यायाधीश के नेतृत्व में एक कमेटी गठित की थी। कमेटी गठन को लेकर मद्रास हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी, लेकिन कोर्ट ने बुधवार को मामले में हस्तक्षेप नहीं करने का दावा करते हुए सुनवाई से इंकार कर दिया था।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned