आल इंडिया रेलवेमेन्स फेडरेशन के 95वें वार्षिक सम्मेलन की शुरुआत

निजीकरण, एनपीएस एवं वर्कशाप्स के कारपोरेटाइजेशन का विरोध

चेन्नई.

दक्षिण रेलवे मजदूर यूनियन की मेजबानी में बुधवार को आल इंडिया रेलवेमेन्स फेडरेशन (एआईआरएफ) के तीन दिवसीय 95वें वार्षिक सम्मेलन की शुरुआत पेरम्बूर स्थित रेलवे स्टेडियम में हुई। इस मौके पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए फेडरेशन के महासचिव एस.जी.मिश्रा एवं सदर्न रेलवे मजदूर यूनियन के महासचिव एन.कन्हैया ने कहा कि छह दिसम्बर तक चलने वाले इस सम्मेलन में एआईआरएफ के सम्बद्ध यूनियनों के करीब एक लाख कर्मचारियों के भाग लेने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि सम्मेलन के दौरान रेलवे को बचाने के लिए कई प्रस्ताव पारित किए जाएंगे। इसके साथ ही नए पदाधिकारियों के चुनाव होंगे। नए रेगुलेशन बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे प्रतिदिन 2.5 करोड़ यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पहुंचाता है। ऐसे में आम आदमी की सुविधाओं का ध्यान रखा जाना चाहिए। लखनऊ से दिल्ली के लिए चलने वाली तेजस ट्रेन को प्राइवेट आपरेटर को दे दिया गया। फेस्टिव सीजन में यात्रियों से दोगुना किराया वसूला जाता है। हम रेल यात्रियों के लिए लड़ रहे हैं। हमने टे्रन 18 वन्दे मातरम को 94 करोड़ रुपए में बनाया। हमारे वर्कशाप्स में कम लागत में कोच बनाए जा रहे हैं। फिर इस कार्य को कारपोरेट को देने की क्या जरूरत जहां लागत कई गुना अधिक है।

सम्मेलन के तहत गुरुवार को पेरम्बूर रेलवे स्टेशन से रैली निकाली जाएगी। इसके बाद महिला सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान एक खुले सत्र का भी आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन, सदस्य सचिव एवं दक्षिण रेलवे के महाप्रबंधक उपस्थित रहेंगे। इस सम्मेलन में निजीकरण, एनपीएस एवं वर्कशाप्स के कारपोरेटाइजेशन का विरोध किया जाएगा और इसको लेकर कार्य योजना संबंधी महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे। साथ ही प्रस्ताव पारित किए जाएंगे। गौरतलब है कि बुधवार को यूथ कान्फ्रेंस का आयोजन किया गया। इस दौरान रैली एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए।

Santosh Tiwari
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned