आचार्य चंद्रभूषण सूरीश्वर का हुआ नगर प्रवेश

आचार्य चंद्रभूषण सूरीश्वर का हुआ नगर प्रवेश

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Apr, 17 2018 10:03:20 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

आचार्य चंद्रभूषण सूरीश्वर अपने 13 शिष्यों के साथ दक्षिण भारत का विहार करते हुए शनिवार को चेन्नई पहुंचे। यहां कीलपॉक के देवदर्शन अपार्टमेंट में उनके...

चेन्नई।आचार्य चंद्रभूषण सूरीश्वर अपने 13 शिष्यों के साथ दक्षिण भारत का विहार करते हुए शनिवार को चेन्नई पहुंचे। यहां कीलपॉक के देवदर्शन अपार्टमेंट में उनके नगर प्रवेश पर जोरदार स्वागत सत्कार हुआ।

हीराचंद कांकरिया ने विज्ञप्ति में बताया कि आचार्य के साथ श्री आबूगौड़ पट्टी के दांतराई गांव से दीक्षित मुनिराज ज्ञानभूषण विजय, विनयभूषण विजय, संयमभूषण विजय एवं साध्वी तत्वरक्षिताश्री, मोक्षरक्षिताश्री, सिद्धिरक्षिताश्री एवं मुक्तिरक्षिताश्री के दीक्षा पर्यन्त प्रथम बार चेन्नई आगमन हुआ है। इस वजह से प्रवासी श्री आबूगौड़ जैन संघ एवं दांतराई संघ के सदस्यों में खुशी का माहौल है। इस निमित्ते अनेक धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन किया जा रहा है।

इससे पहले गुरुभगवंतों के नगर प्रवेश पर नंदा जीतूभाई शाह के नेतृत्व में आबूगौड़ के धन्य वीर शासनम की बहनों द्वारा नयनरम्य गहुली एवं विविध कलशों सहित भव्य सामैया किया गया। देवदर्शन से विहार करके गुरुदेव रविवार को अरिहंत शिवशक्ति अपार्टमेंट में विहार करेंगे और सोमवार को श्री चन्द्रप्रभु जैन नया मंदिर ट्रस्ट व आबूगौड़ जैन संघ के तत्वावधान में श्री जैन आराधना भवन में भव्य प्रवेश होगा। जैन महासंघ के पन्नालाल सिंघवी ने कहा कि महान संतों का चेन्नई चातुर्मास अवश्य होना चाहिए ताकि हमें संत समागम मिले।

आईएएस अधिकारी सुधा देवी और आईपीएस अधिकारी जयागौरी ने भी आचार्य से आशीर्वाद लिया। कीलपॉक ट्रस्ट मंडल ने आचार्य से २१ अप्रेल को कीलपॉक मंदिर का शिलान्यास करने की विनती की। नगर प्रवेश पर श्री चन्द्रप्रभु जैन नया मंदिर ट्रस्ट, श्री जैन महासंघ, श्री आबूगौड़ जैन संघ, श्री अरिहंत शिवशक्ति जैन संघ एवं और भी कई सभा-संस्थाओं के पदाधिकारी व श्रावक-श्राविकाओं की उपस्थिति रही। कार्यक्रम का संचालन विमल एल. शाह एवं भरत एल. शाह ने किया।

संयुक्त मुख्य नियंत्रक रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार

केन्द्रीय जांच ब्यूरो के अधिकारियों ने शनिवार को कथित तौर पर विस्फोटक विभाग के संयुक्त मुख्य नियंत्रक को विस्फोटक अधिनियम के तहत लाइसेंस जारी के लिए रिश्वत मांगने और ३० हजार रुपए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। संयुक्त मुख्य नियंत्रक को रिश्वत देने वाले व्यक्ति को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। सीबीआई की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार संयुक्त मुख्य नियंत्रक अशोक कुमार यादव ने लाइसेंस जारी करने के एवज में शक्तिवेल से रिश्वत मांगी और ३० हजार रुपए रिश्वत ली। सूत्रों ने बताया कि शक्तिवेल पेरम्बलूर जिले का रहने वाला है। उसने विस्फोटक अधिनियम के तहत लाइसेंस के लिए आवेदन दिया था।

सूत्रों के अनुसार वह यादव से संपर्क करने के लिए कुमरेसन से मिला। कुमरेशन बिचौलिया का काम कर रहा था। सीबीआई और भ्रष्टाचार ब्यूरो ने यादव को शक्तिवेल से ३० हजार रुपए लेते दबोच लिया और शक्तिवेल को भी गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned