शिक्षा मंत्री ने बैठक कर स्कूलों को खोलने को लेकर की चर्चा

स्कूल शिक्षा मंत्री के.ए. सेंगोट्टयन ने सोमवार को राज्य सचिवालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर स्कूलों को खोलने को लेकर चर्चा किया

By: Vishal Kesharwani

Published: 19 Oct 2020, 05:20 PM IST


-कहा वर्तमान में स्कूलों को खोलना संभव नहीं
चेन्नई. स्कूल शिक्षा मंत्री के.ए. सेंगोट्टयन ने सोमवार को राज्य सचिवालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर स्कूलों को खोलने को लेकर चर्चा किया। इस मौके पर स्कूल शिक्षा सचिव धीरज कुमार, स्कूल शिक्षा आयुक्त एन. वेंकटेश, स्कूल शिक्षा निदेशक कन्नप्पन और प्राथमिक शिक्षा निदेशक पलनीसामी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गर्ई। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में सेंगोट्टयन ने कहा कि वर्तमान की स्थिति को देखते हुए स्कूलों को खोलना संभव नहीं है। विद्यार्थियों के जीवन के साथ किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की जा सकती है।

 

स्थिति सामान्य होने के बाद ही स्कूलों को खोलने को लेकर निर्णय लिया जाएगा। इससे पहले रविवार को मंत्री ने कहा था कि दूसरी बार नीट परीक्षा लिखने के इच्छुक विद्यार्थी निजी संस्थानों से ही परीक्षण प्राप्त करें। वर्तमान में राज्य सरकार राज्य के स्वामित्व वाली स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए परीक्षण की व्यवस्था कर रहा है। इरोड में एक परियोजना का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने यह बात कही। उन्होंने कहा सरकार के प्रयासों की वजह से सरकारी स्कूलों के 300 से अधिक विद्यार्थी 7.५ प्रतिशत आरक्षण के जरिए मेडिकल में प्रवेश कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि हाल ही में सेंगोट्टयन ने कहा था कि वर्तमान में स्कूलों को खोलना संभव नहीं होगा। आंध्र प्रदेश में स्कूलें खोली गई थी जिसके बाद कई बच्चे कोरोना पॉजिटिव हो गए। यही कारण है कि राज्य में स्कूलों को खोलने को लेकर किसी प्रकार की जल्दबाजी नहीं दिखाई जा रही है।

 

उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य की स्कूलों को खोलना संभव नहीं होगा। इस संबंध में कोई भी निर्णय राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ही लेंगे। विभाग की ओर से तैयार रिपोर्ट जल्द ही मुख्यमंत्री को सौंपी जाएगी और उसके आधार पर वे स्कूलों को खोलने का निर्णय लेंगे। शिक्षा, राजस्व और स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयार होने वाला एक रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपा जाएगा और उसके बाद ही किसी प्रकार का निर्णय लिया जाएगा। स्कूलों को खोलने का निर्णय लेने से पहले सभी सुरक्षात्मक उपाय किए जाएंगे और उन पर लगातार निगरानी भी रखी जाएगी।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned