कोरोना महामारी को देखते हुए एआईएडीएमके ने सहयोगी भाजपा को वेल यात्रा को छोडऩे का दिया सुझाव: जयकुमार

राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके ने गुरुवार को अपने सहयोगी पार्टी भाजपा को कोरोना महामारी को देखते हुए प्रस्तावित वेल यात्रा को छोडऩे का सुझाव दिया

By: Vishal Kesharwani

Published: 05 Nov 2020, 06:19 PM IST


चेन्नई. राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके ने गुरुवार को अपने सहयोगी पार्टी भाजपा को कोरोना महामारी को देखते हुए प्रस्तावित वेल यात्रा को छोडऩे का सुझाव दिया, क्योंकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दूसरे और तीसरे लहर में एक बार फिर से वायरस के तेजी से फैलने की चेतावनी दी है। पूछे गए एक सवाल के जवाब में राज्य के मत्स्य पालन मंत्री डी. जयकुमार ने कहा सरकार के अथक प्रयासों की वजह से कोरोना महामारी पर नियंत्रण किया गया है, लेकिन स्वास्थ्य विशेषज्ञों की ओर से दूसरे और तीसरे लहर के वायरस के प्रसार की चेतावनी मिली है। ऐसे में क्या राज्य की जनता की रक्षा करना सरकार का कर्तव्य नहीं है?

 

स्थिति को देखते हुए भाजपा को इस बात को समझना चाहिए। यात्रा का आयोजन करना सही नहीं है इसलिए उन्हें इसे छोड़ देना चाहिए। अनुमति नहीं मिलने के बावजूद अगर भाजपा ने यात्रा का आयोजन किया तो सरकार की कार्रवाई क्या होगी, के जवाब में मंत्री ने कहा सभी को कानून का पालन करना चाहिए। अगर कोई कानून का उल्लंघन करता है तो यह उसकी गलती होगी। यह मै सिर्फ भाजपा को नहीं बल्कि सभी पार्र्टियों के लिए कह रहा हूं। जयकुमार ने कहा पूरी उम्मीद है कि राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई को लेकर सरकार की सिफारिशों पर जल्द ही उचित निर्णय लेंगे। इससे पहले वीसीके सांसद डी. रविकुमार और डीके नेता के. वीरामणि ने भाजपा की प्रस्तावित रैली को अनुमति नहीं देने के सरकार के निर्णय का स्वागत किया।

COVID-19 COVID-19 virus
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned