Tamilnadu: संगीत कलाकारों को लोकप्रिय बनाने में आकाशवाणी का योगदान महत्वपूर्ण

आकाशवाणी (Akashvani) के चेन्नई केंद्र में आयोजित आकाशवाणी संगीत सम्मेलन 2019 में मुख्य अतिथि कर्नाटक संगीत की गायिका सुधा रघुनाथन (Ragunathan) ने कहा कि भारत के शास्त्रीय संगीत और संगीत कलाकारों को लोकप्रिय बनाने में आकाशवाणी का योगदान महत्वपूर्ण रहा है।

चेन्नई. आकाशवाणी के चेन्नई केंद्र में आयोजित आकाशवाणी संगीत सम्मेलन 2019 में मुख्य अतिथि कर्नाटक संगीत की गायिका सुधा रघुनाथन ने कहा कि भारत के शास्त्रीय संगीत और संगीत कलाकारों को लोकप्रिय बनाने में आकाशवाणी का योगदान महत्वपूर्ण रहा है। उन्होंने स्वयं के अनुभवों का स्मरण करते हुए बताया कि वे जब युववाणी में कार्यक्रम के लिए आया करती थीं तब उन्होंने अनुशासन के जो पाठ सीखे वे उनको आज भी उपयोगी लग रहे हैं। रघुनाथन को उप.महानिदेशक टी. राजेंद्रन ने पुष्प गुच्छ से सम्मानित किया तथा केंद्र निदेशक वी. चक्रवर्ती ने स्मृतिचिन्ह प्रदान किया।
दी बेहतरीन प्रस्तुति
आयोजन में हिंदुस्तानी संगीत के अंतर्गत जालंधर से आए प्रोफेसर डॉक्टर हरविंदर कुमार शर्मा ने सितार वादन प्रस्तुत किया। तबले पर संगत की कोलकता से आए रूपक भट्टाचार्जी ने। कर्नाटक संगीत के अंतर्गत बेंगलूरु से आई टी. एस. रमा ने अपना गायन प्रस्तुत किया। संगत करने वाले कलाकार थे वायलीन पर बी. रघुराम, मृदंगम पर बी. आर. श्रीनिवास, कंजिरा पर बी.आर. लता तथा घट पर दयानंद मोहिते। संचालन तमिल उद्घोषिका, वी. एन. सौंदरनायगि हिंदी उद्घोषक उदय मेघाणी तथा अंग्रेज़ी उद्घोषिका दुर्गा शर्मा ने किया।

Ashok Rajpurohit
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned