scriptमृत्युदंड की सजा पाए सात दोषियों समेत सभी नौ आरोपी बरी | All nine accused including seven death row convicts acquitted | Patrika News
चेन्नई

मृत्युदंड की सजा पाए सात दोषियों समेत सभी नौ आरोपी बरी

Madras High Corut

चेन्नईJun 14, 2024 / 03:33 pm

P S VIJAY RAGHAVAN

Madras High Corut

ख्यातनाम न्यूरोसर्जन डॉ. एसडी सुब्बैया हत्याकांड मामले में मद्रास उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को सभी 9 दोषियों को बरी कर दिया, जिनमें से सात को मौत की और अन्य दो को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। यह मामला 2013 का है जब सम्पत्ति विवाद की वजह से डाॅ. सुब्बैया की हत्या हुई।इस हत्याकांड में दोषी ठहराए गए सभी नौ जनों ने उच्च न्यायालय में अपील दायर की थी। दायर अपीलों को स्वीकार करते हुए, जस्टिस एमएस रमेश और सुंदर मोहन की खंडपीठ ने चेन्नई के अतिरिक्त सत्र न्यायालय- I के 2021 में सुनाए गए आदेश को रद्द कर दिया।

दोहरा मृत्युदंड और आजीवन कारावास

अतिरिक्त सत्र न्यायालय ने स्कूल शिक्षक पोन्नुसामी, उनके बेटों बोरिस, बेसिल और विलियम के साथ-साथ डॉ. जेम्स सतीश कुमार, मुरुगन और सेल्वप्रकाश को हत्या और आपराधिक साजिश सहित अपराधों के लिए दोहरे मृत्युदंड जबकि पोन्नुसामी की पत्नी मैरी पुष्पम और येसुराजन को दोहरे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

तत्काल रिहा करने के आदेश

न्यायिक पीठ ने आदेश में कहा, ‘सभी अपीलों को स्वीकार किया जाता है। प्रथम अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की सजा और दोषसिद्धि को रद्द किया जाता है। अपीलकर्ताओं को सभी आरोपों से बरी किया जाता है।’ हाईकोर्ट ने संबंधित अधिकारियों को सभी दोषियों को तत्काल रिहा करने का निर्देश दिया, जब तक कि वे अन्य मामलों में वांछित न हों।

अपीलकर्ता के वकील के तर्क

अपीलकर्ताओं के वकीलों ने तर्क दिया कि अभियोजन पक्ष संदेह से परे आरोपों को साबित करने में विफल रहा है और ट्रायल कोर्ट ने ऐसे तथ्यों को ध्यान में नहीं रखा है। हालांकि, अभियोजन पक्ष ने तर्क दिया कि आरोप बिना किसी संदेह के साबित हुए थे और ट्रायल कोर्ट ने फैसला सुनाने से पहले सभी कारकों पर विचार किया था।

यह है मामला

14 सितंबर, 2013 को चेन्नई के आरए पुरम में एक अस्पताल से बाहर निकलते समय जाने-माने न्यूरो-सर्जन डॉ. सुब्बैया पर हथियारों से बेरहमी से हमला किया गया था। हमले के लगभग दस दिन बाद 23 सितंबर को गंभीर चोटों के कारण सुब्बैया की मौत हो गई। हत्या की वजह रिश्तेदारों के बीच संपत्ति विवाद बताया गया। जांच के बाद पुलिस ने उक्त नौ जनों को गिरफ्ता कर चार्जशीट दायर की थी।

Hindi News/ Chennai / मृत्युदंड की सजा पाए सात दोषियों समेत सभी नौ आरोपी बरी

ट्रेंडिंग वीडियो