1400 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा : आईटी

Mukesh Sharma

Publish: Nov, 15 2017 06:06:04 (IST)

Chennai, Tamil Nadu, India
1400 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा : आईटी

एआईएडीएमके से दरकिनार पाटी महासचिव वीके शशिकला के परिवार से जुड़े ठिकानों पर हाल ही आयकर विभाग द्वारा की गई छापेमारी में बड़ा खुलासा सामने आया है। आयकर विभाग के अधिकारियों का कहना है कि चेन्नई में शशिकला के संबंधियों और जया टीवी के ठिकानों पर छापे में अकूत बेनामी संपत्ति का पता चला है।

चेन्नई।एआईएडीएमके से दरकिनार पाटी महासचिव वीके शशिकला के परिवार से जुड़े ठिकानों पर हाल ही आयकर विभाग द्वारा की गई छापेमारी में बड़ा खुलासा सामने आया है। आयकर विभाग के अधिकारियों का कहना है कि चेन्नई में शशिकला के संबंधियों और जया टीवी के ठिकानों पर छापे में अकूत बेनामी संपत्ति का पता चला है। आयकर विभाग के मुताबिक इस दौरान छापेमारी की कार्रवाई में करीब 1400 करोड़ रुपए से ज्यादा की अघोषित आय का पर्दाफाश हुआ है। छापे में क्या-क्या दस्तावेज और वस्तुएं बरामद हुईं, इस बारे में अभी आधिकारिक बयान नहीं आया है।

18 7 ठिकानों पर पड़े थे आईटी छापे

पिछले गुरुवार को एआईएडीएमके नेता वीके शशिकला और उनके संबंधियों के अलग-अलग कुल 18 7 ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापे की कार्रवाई की थी। इस हाई-प्रोफाइल आईटी रेड से शशिकला खेमे में हडक़ंप मच गया था। जेल में बंद शशिकला भी बेचैन नजर आईं और शनिवार व रविवार को पूरे दिन जया टीवी न्यूज चैनल और अखबारों से जानकारी जुटाने में लगी रही।

बता दें कि शशिकला आय से अधिक संपत्ति मामले में 4 साल जेल की सजा काट रही है। उनकी सहयोगी इलवरसी भी इसी आरोप में कैद है। जेल के विश्वसनीय सूत्रों के हवाले से सामने आया कि शुक्रवार और शनिवार देर रात करीब एक बजे तक शशिकला न्यूज चैनल से जानकारी लेती रही। शनिवार को वह जेल की लाइब्रेरी गईं और वहां दैनिक अखबारों की कॉपी पढऩे लगी। वह आईटी रेड की खबरों को पढक़र थोड़ा उदास और परेशान नजर आर्इं थी।

छापे राजनीति से प्रेरित नहीं : जयरामन

एआईएडीएमके नेता वीके शशिकला के भतीजे और जया टीवी के एमडी विवेक जयरामन ने मंगलवार को पिछले पांच दिनों तक उनके आवास और कार्यालय में आयकर अधिकारियों के छापेमारी राजनीति से प्रेरित होने से इनकार किया है। नुंगम्बाक्कम के महालिंगपुरम स्थित आवास पर विवेक ने पत्रकारों को बताया कि जिस अंदाज से आयकर अधिकारी छापेमारी कर रहे थे उससे यह प्रतीत नहीं होता कि छापेमारी राजनीति से प्रेरित है। इससे पहले टीटीवी दिनकरण ने पत्रकारों से बातचीत में कहा था कि आयकर विभाग की छापेमारी के पीछे केन्द्र में बैठी भाजपा सरकार का हाथ है।

विवेक ने बताया कि उन्होंने जया टीवी की बागडोर इसी साल मार्च महीने में संभाली थी जबकि जैज सिनेमा का कार्य वह 2015 से देख रहे थे। उन्होंने कहा कि आयकर अधिकारियों ने अपनी ड्यूटी निभाई। मैंने उनका पूरा सहयोग किया। मैं भविष्य में भी आयकर अधिकारियों के बुलाने पर पूछताछ के लिए जाऊंगा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने खाते और कंपनियों के दस्तावजों को खंगाला और उन दस्तावेजों ं के बारे में मुझसे पूछताछ की। फिल्म डिस्ट्रीब्यूशन के बारे में भी पूछताछ की गई जिसके बारे में पूरी जानकारी दी गई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned