वेलूर चुनाव निरस्तीकरण पर अपील खारिज

वेलूर चुनाव निरस्तीकरण पर अपील खारिज

P.S.Vijayaraghavan | Publish: Apr, 17 2019 07:03:17 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

  • 18 अप्रैल को नहीं होगा वेलूर में चुनाव
  • मद्रास हाईकोर्ट का निर्णय

चेन्नई. भारत निर्वाचन आयोग द्वारा वेलूर लोकसभा सीट के चुनाव निरस्त करने पर की गई अपीलों को मद्रास उच्च न्यायालय ने ठुकरा दिया। वेलूर में साढ़े ग्यारह करोड़ की नकदी पकड़े जाने तथा मतदाताओं को रिश्वत दिए जाने की बढ़ती घटनाओं की वजह से चुनाव आयोग ने उक्त निर्णय किया था।

एआईएडीएमके गठबंधन के प्रत्याशी ए. सी. षणमुगम और निर्दलीय प्रत्याशी सुकुमारन ने बुधवार को याचिकाएं दायर कर १६ अप्रेल को चुनाव आयोग की सिफारिश पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा वेलूर लोकसभा चुनाव अधिसूचना को निरस्त करने के आदेश को चुनौती दी थी।
न्यायाधीश एस. मणिकुमार और न्यायाधीश सुब्रमण्यम प्रसाद की न्यायिक पीठ ने इस जनहित याचिका पर सुबह सुनवाई की। याची के अधिवक्ता की नजीर थी कि एक अकेले प्रत्याशी के भ्रष्ट आचरण से पूरा चुनाव नहीं रोका जा सकता है। आरोपी उम्मीदवार को ही अयोग्य घोषित किया जाना चाहिए। भारत निर्वाचन आयोग अगर एक बार चुनाव की अधिसूचना जारी कर देता है तो राष्ट्रपति के पास इसे रद्द करने का अधिकार नहीं है।

न्यायिक पीठ ने वकील से पूछा तो क्या चुनाव आयोग जनता को इस तरह से भ्रष्ट होने की अनुमति दे और फिर कार्रवाई करे? जनप्रतिनिधि कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जो कि चुनाव लडऩे के स्तर पर ही प्रत्याशी को अयोग्य ठहरा सके। यह कहते हुए बेंच ने याचिका पर फैसला शाम साढ़े चार बजे तक के लिए सुरक्षित कर लिया था।

मद्रास हाईकोर्ट ने शाम को दिए फैसले में दोनों याचिकाओं को यह कहते हुए ठुकरा दिया कि जिस निर्वाचन क्षेत्र में नोट बांटे गए हों वहां चुनाव कराने के निर्देश देना गलत मिसाल बन जाएगी। हाईकोर्ट द्वारा दोनों याचिकाओं को ठुकरा दिए जाने से यह स्पष्ट हो गया है कि १८ अप्रेल को वेलूर लोकसभा सीट पर मतदान नहीं होगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned