इस बार तीस फीसदी घट गई सेब की पैदावार

इस बार तीस फीसदी घट गई सेब की पैदावार
- हिमाचल में 13 साल में सबसे कम पैदावार

By: Ashok Rajpurohit

Published: 30 Nov 2020, 12:48 AM IST

चेन्नई. हिमाचल प्रदेश में पिछले वर्ष की तुलना में इस बार सेब का उत्पादन करीब तीस फीसदी घट गया है। यह पिछले 13 साल में सबसे कम है।
हर साल ढाई से तीन करोड़ पेटी सेव का उत्पादन
हर साल ढाई से तीन करोड़ पेटी सेव का उत्पादन होता है। लेकिन इस बार अब तक हिमाचल के सेव बाहुल्य इलाकों से 1.61 करोड सेव की पेटियां ही देश की विभिन्न मंडियों में भेजी गई है। इसमें निजी क्षेत्र के कोल्ड स्टोरों में खरीदा गया सेव शामिल नहीं है। अब केवल कुछ इलाकों से सेव मंडियों में भिजवानी है। ऐसे में सेव की पैदावार करीब पौने दो करोड़ पेटी से कम रहने का अनुमान है। जो पिछले साल की तुलना में करीब तीस फीसदी कम है।
प्रतिकूल मौसम के चलते उत्पादन हुआ कम
इस बार प्रतिकूल मौसम की मार से सेब का उत्पादन कम हुआ हिमाचल में करीब 1.10 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सेव का उत्पादन होता है। यानी प्रदेश में कुल फलोत्पादन क्षेत्र के करीब 49 फीसदी हिस्से पर सेब की पैदावार होती है। हिमाचल ने सेब उत्पादन ने देश में एक अलग स्थान बनाया है। यहां देश की सेब फसल का करीब 38 फीसदी हिस्सा पैदा हो रहा है। गर्मियों में अत्यधिक ओलावृष्टि व अंधड़ तथा सर्दियों में असमय बर्फ पड़ने की वजह से सेव की फसल बर्बाद हो गई।
2010 में हुआ था रेकॉर्ड 5.11 करोड़ पेटी
वर्ष 2019 में 2.94 करोड़ पेटी सेब का उत्पादन हुआ जबकि वर्ष 2018 में 1.82 करोड़ पेटी सेब की पैदावार हुई। जबकि 2017 में 2.23 करोड़ पेटी, 2016 में 2.18 करोड़ पेटी, 2015 में 3.90 करोड़ पेटी सेब का उत्पादन हुआ। वर्ष 2010 में रेकॉर्ड 5.11करोड़ पेटी सेब की पैदावार हुई थी। वर्ष 2007 में 1.76 करोड़ पेटी का उत्पादन हुआ।
.........................

Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned