अयनावरम बलात्कार मामले में सजा काट रहे कैदी ने जेल में फांसी लगाकर की आत्महत्या

वह मानसिक रूप से बीमार था

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 27 May 2020, 05:59 PM IST


चेन्नई. अयनावरम स्थित अपार्टमेंट परिसर में सात महीनों तक 11 वर्षीया बालिका से बलात्कार मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे एक कैदी ने पूझल केंद्रीय जेल के बैरक के शौचालय में बुधवार दोपहर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

बलात्कार के आरोपियों को इसी साल फरवरी महीने में सजा हुई थी। मामले में 15 में से 5 दोषियों को मृत्यु तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी जिसमें पलनी (40) शामिल है। पलनी पूलीयांतोप के गांधी नगर का रहने वाला था।

पूझल पुलिस ने बताया कि पलनी को पूझल प्रिजन-1 के बैरक में रखा गया था। वह मानसिक रूप से बीमार था और जेल के अस्पताल में इलाज करा रहा था। बुधवार दोपहर को वह शौचालय की खिडक़ी से कंबल को फंदा बनाकर आत्महत्या कर लिया। सुरक्षाकर्मी ने उसे फंदे से लटकता देख आला अधिकारियों को सूचित किया। सूचना मिलते ही अधिकारी वहां पहुंचे और उसे तुरंत सटेनली सरकारी अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। पूझल जेल के अधीक्षक ने पूझल जेल में शिकायत दर्ज कराई है।

यह था पूरा मामला
जुलाई 2018 में अयानवरम के एक अपार्टमेंट परिसर में मूक-बधिर दिव्यांग 11 साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीडन के आरोप में 17 आरोपियों को ऑल वीमेन पुलिस स्टेशन द्वारा गिरफ्तार किया गया था। चेन्नई की विशेष अदालत ने दोषियों को सजा सुनाया जिनमें 5 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई। इन 4 दोषियों में चार को मृत्यु तक आजीवन कारावास की सजा हुई है जबकि एक दोषी को आजीवन कारावास की सजा हुई।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned